मऊ: जेल में ऐशो-आराम की जिंदगी काट रहे हैं कैदी, वायरल वीडियो से खुली पोल

mau

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जेल प्रशासन की पोल खोल देने वाला एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे वीडियो ने जेल प्रशासन के भ्रष्टाचार की पोल खोल दी है। वीडियो को किसी कैदी द्वारा बनाया गया है। जो जेलर और जेल अधीक्षक पर कारागार में सुविधा उपलब्ध कराने के नाम पर धन उगाही का आरोप लगा रहा है। वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य़ ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

Mau Uttar Pradesh Jail Video Viral Video :

वीडियो दिख बंदियों से पैसे लेकर उन्हें पूड़ी-सब्जी बेची जा रही है। वीडियो छिपकर भी नहीं, खुलेआम बनाया जा रहा है। पूड़ी सब्जी बेच रहा व्यक्ति वीडियो बनाने वाले को रोकता भी है। दोनों के बीच गाली गलौच भी होती है। वीडियो बनाने वाला कहता है कि जब बेचते हुए डर नहीं लग रहा तो वीडियो से क्यों डरता है।

अन्य वीडियो में हेरोइन और गांजे की पुड़िया तैयार होते, बंदियों को नशा करते, बैरक के भीतर हीटर पर खाना बनाते, बंदियों को धड़ल्ले से मोबाइल का इस्तेमाल करते दिखाया गया है। वीडियो में कहा गया है कि अधिकारियों की मिलीभगत से जानबूझकर खराब खाना दिया जाता है ताकि अच्छे भोजन और हीटर के लिए पैसे वसूले जा सकें।

वीडियो में ये भी कहा जा रहा है कि जेलर 40 रुपये में चार पूड़ियां और 10 रुपये में एक प्लेट सब्जी बंदियों को बेच रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

एसपी ने वीडियो को पुराना बताया

इस मामले में एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि उन्हें भी सोशल मीडिया के द्वारा इस बात की जानकारी हुई है। एसपी ने कहा कि वीडियो को देखकर लग रहा है कि वीडियो तीन से चार महीने पुराना है। फिलहाल वीडियो की जांच कराई जाएगी।

वीडियो में मौजूद जेल के अधिकारी अगर इस वक्त उसी जेल में तैनात है तो उन पर उचित कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच इंस्पेक्टर एलआईयू को सौंपी गई है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में जेल प्रशासन की पोल खोल देने वाला एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे वीडियो ने जेल प्रशासन के भ्रष्टाचार की पोल खोल दी है। वीडियो को किसी कैदी द्वारा बनाया गया है। जो जेलर और जेल अधीक्षक पर कारागार में सुविधा उपलब्ध कराने के नाम पर धन उगाही का आरोप लगा रहा है। वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य़ ने जांच के आदेश दे दिए हैं। वीडियो दिख बंदियों से पैसे लेकर उन्हें पूड़ी-सब्जी बेची जा रही है। वीडियो छिपकर भी नहीं, खुलेआम बनाया जा रहा है। पूड़ी सब्जी बेच रहा व्यक्ति वीडियो बनाने वाले को रोकता भी है। दोनों के बीच गाली गलौच भी होती है। वीडियो बनाने वाला कहता है कि जब बेचते हुए डर नहीं लग रहा तो वीडियो से क्यों डरता है। अन्य वीडियो में हेरोइन और गांजे की पुड़िया तैयार होते, बंदियों को नशा करते, बैरक के भीतर हीटर पर खाना बनाते, बंदियों को धड़ल्ले से मोबाइल का इस्तेमाल करते दिखाया गया है। वीडियो में कहा गया है कि अधिकारियों की मिलीभगत से जानबूझकर खराब खाना दिया जाता है ताकि अच्छे भोजन और हीटर के लिए पैसे वसूले जा सकें। वीडियो में ये भी कहा जा रहा है कि जेलर 40 रुपये में चार पूड़ियां और 10 रुपये में एक प्लेट सब्जी बंदियों को बेच रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया है। एसपी ने वीडियो को पुराना बताया इस मामले में एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि उन्हें भी सोशल मीडिया के द्वारा इस बात की जानकारी हुई है। एसपी ने कहा कि वीडियो को देखकर लग रहा है कि वीडियो तीन से चार महीने पुराना है। फिलहाल वीडियो की जांच कराई जाएगी। वीडियो में मौजूद जेल के अधिकारी अगर इस वक्त उसी जेल में तैनात है तो उन पर उचित कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच इंस्पेक्टर एलआईयू को सौंपी गई है।