अस्पताल ने बच्चे को बताया मृत, सील बंद पैकेट में हिलने लगा पैर

newborn

Max Hospital Declares Alive Baby Boy Dead

नई दिल्ली। दिल्ली के शालीमार बाग में मैक्स अस्पताल की बड़ी लापरवाही का मामला समाने आया है। अस्पताल ने जीवित नवजात शिशु को मृत घोषित कर कागज तथा कपड़े में पैक कर परिजनों को थमा दिया। फिलहाल परिजनों की सावधानी ने समय रहते बच्चे को बचा लिया और दूसरे अस्पताल में बच्चे को भर्ती करवा दिया है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने मामला दर्ज न कर मेडिकल की लीगल सेल को फॉरवर्ड कर दिया है।

पूरा मामला

मामला दिल्ली के शालीमार बाग के मैक्स अस्पताल का है। 30 नवंबर को दो जुड़वा बच्चों का जन्म हुआ जिसमें अस्पताल ने दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। बाद में परिवार वालों को पता चला कि उनमें से एक बच्चा जीवित है। मामले की जानकारी होने के बाद दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता दीपेंद्र पाठक ने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि यह बहुत ही चौंकाने वाली घटना है और लापरवाही की हद है। हमने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं मृत घोषित करने वाले डॉक्टर को फौरन छुट्टी दे दी।

दोनों बच्चों की डेड बॉडी लेकर परिजन लौट रहे थे दोनों पार्सलों को महिला के पिता ने ले रखा था। रास्ते में अचानक उन्हें एक पार्सल में हलचल सी महसूस हुई। यह देख उन्होंने तुरंत पार्सल को फाड़ा तो अंदर बच्चा जीवित मिला। तुरंत उसे लेकर एक नजदीकी अस्पताल गए, जहां दूसरा बच्चा जीवित है और उसका इलाज चल रहा है।

परिजनों का कहना है कि पुलिस ने FIR दर्ज नही की पुलिस का कहना है दिल्ली मेडिकल काउंसिल की लीगल सेल को मामला फारवर्ड कर दिया है जो मामले की जांच करेगी उसके बाद ही आगे का मामला दर्ज होगा। इस मामले में DCP नार्थ-वेस्ट जिला का कहना है की अभी वे शहर से बाहर है और एरिया में आकर मीडिया से बात करेंगे।

नई दिल्ली। दिल्ली के शालीमार बाग में मैक्स अस्पताल की बड़ी लापरवाही का मामला समाने आया है। अस्पताल ने जीवित नवजात शिशु को मृत घोषित कर कागज तथा कपड़े में पैक कर परिजनों को थमा दिया। फिलहाल परिजनों की सावधानी ने समय रहते बच्चे को बचा लिया और दूसरे अस्पताल में बच्चे को भर्ती करवा दिया है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने मामला दर्ज न कर मेडिकल की लीगल सेल को फॉरवर्ड कर दिया है। पूरा मामला मामला दिल्ली के…