जीवित शिशु को मृत घोषित करने वाले मैक्स अस्पताल का लाइसेन्स रद्द

नई दिल्ली। जीवित शिशु को मृत घोषित करने वाले दिल्ली के शालीमार बाग स्थित मैक्स हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। दिल्ली सरकार ने यह फैसला मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद लिया है। लाइसेंस रद्द किए जाने पर मैक्स हेल्थकेयर ने बयान में कहा है कि यह फैसला कठोर और अनुचित है, और इस फैसले का बुरा प्रभाव हमारे मरीजों पर होगा।

बता दें कि बीत कुछ दिन पहले 6 माह की गर्भवती महिला ने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया था। अस्पताल ने दोनों बच्चों को मृत बता कर बच्चों को पोलीथीन बैग में बंद कर परिजनों को सौंप दिया था जबकि बाद में एक बच्चा जीवित निकला। जिसके बाद नवजात को एक दूसरे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया लेकिन कुछ दिन बाद उस नवजात की भी मौत हो।

{ यह भी पढ़ें:- बवाना अग्निकांड : लाइसेंस प्लास्टिक फैक्ट्री का बन रहे थे पटाखे }

दिल्ली सरकार ने पूरे मामले की जांच के बाद कार्यवाही करते हुए अस्पताल का लाइसेंस रद्द कर दिया। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने पहले ही कहा था कि जांच में अगर अस्पताल दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। मृत बच्चे के परिजनों ने अस्पताल पर यह भी आरोप लगाया कि अस्पताल ने इलाज के नाम पर बहुत ज्यादा रकम की मांग की थी।

परिजनों ने और सैकड़ों स्थानीय लोगों ने आरोपी डॉक्टरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लगातार कुछ दिनों तक मैक्स हॉस्पिटल के बाहर धरना भी दिया।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली: ठंड से मरने वालों के लिए केजरीवाल ने उपराज्यपाल को जिम्मेदार ठहराया }

Loading...