उप्र में बसपा की ही बनेगी पूर्ण बहुमत की सरकार: मायावती





लखनऊ: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को कहा कि चुनावी सर्वे करने वाली एजेंसियां बसपा के विरोधियों के पक्ष में माहौल बनाने का प्रयास कर रही हैं, लेकिन यह तय है कि उप्र में बसपा की ही पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी। मायावती प्रदेश कार्यालय में पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रही थीं। उन्होंने कहा कि मीडिया भी चुनावी सर्वे दिखाकर केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी के पक्ष में हवा बनाने में सहयोग करता है, इसलिए जमीनी स्तर पर पार्टी का जनाधार बढ़ाने पर खास ध्यान दिया जाए।

उन्होंने जमीनी स्तर पर पार्टी का जनाधार बढ़ाने के लिए मिशनरी गतिविधियां जारी रखने के निर्देश दिए। कांशीराम की पुण्यतिथि पर 9 अक्तू बर को लखनऊ आए कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में फिर से पूर्ण बहुमत की ‘सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय’ वाली सरकार बनेगी। मायावती ने कार्यक्रम के दौरान सपा शासन की लापरवाही से हुई दो लोगों की मौत पर गहरा दुख भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सपा, भाजपा व कांग्रेस जैसी विरोधी पार्टियां साम, दाम, दंड, भेद यानी हर किस्म के हथकंडे अपनाकर व बड़े-बड़े पूंजीपतियों व धन्नासेठों के धन बल पर लोगों को बरगलाने के मामले में धुरंधर हैं।

मायावती ने कहा कि लोहिया पार्क, समाजवादी संग्रहालय, इटावा में मौज-मस्ती के लिए ‘लायन सफारी व सैफई महोत्सव आदि पर सरकारी खर्च करना और उसे सही व उचित ठहराना सपा सरकार का दोहरा, जातिवादी, विद्वेषपूर्ण चाल, चरित्र, चेहरा व कृत्य नहीं तो और क्या है? बसपा के सूत्रों के मुताबिक, बसपा कार्यालय में हुई बैठक में पार्टी के जिम्मेदार लोगों ने 9 अक्टूबर को हुई घटना पर अपनी रिपोर्ट सौंपी, जिसमें रैली में मची भगदड़ के लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया गया। बैठक में पार्टी संगठन के साथ-साथ भाईचारा संगठन की कमेटी के संबंध में भी ताजा रिपोर्ट लेने व गहन समीक्षा करने के बाद मायावती ने कहा कि विपक्षी पार्टियां प्रदेश में बसपा के लोगों का मनोबल गिराने के लिए कई तरह के हथकंडे अपनाएंगी, जिनसे जनता को वोट पड़ने तक सावधान रहना है।