बेहाल मुख्यमंत्री की बदहाल विकास रथयात्रा : मायावती

लखनऊ: बसपा अध्यक्ष मायावती ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में शुरू हुई समाजवादी विकास रथ यात्रा को बदहाल विकास रथ यात्रा करार देते हुए कहा कि यात्रा में शामिल अपराधी तत्वों ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर मारपीट और गाली-गलौच कर संवैधानिक मर्यादाओं की धज्जियां उड़ा दीं। मायावती ने कहा कि सपा सरकार की ‘‘रथयात्रा’ का नेतृत्व परिवारिक विवाद में उलझे और बेहाल मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कर रहे हैं। इस यात्रा में क्षेत्रीय युवक नहीं, बल्कि प्रदेश के आपराधिक मानसिकता वाले सपा कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने पिछले साढ़े चार वर्षों से प्रदेश को भ्रष्टाचार और जंगलराज में झोंक रखा है।



उन्होंने कहा कि इसका प्रत्यक्ष प्रमाण उस समय मिला, जब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में ही गाली-गलौज और मारपीट हो गयी। ‘‘रथयात्रा’ में ज्यादातर वही लोग नजर आये, जिन्होंने सपा परिवार व सपा सरकार में वर्चस्व की लड़ाई के लिए जारी गृहयुद्ध में दबंगई और हुड़दंगबाजी की। इनमें से कई के खिलाफ पार्टी ने अनुशासनिक कार्रवाई भी की। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि मुख्यमंत्री के सरकारी निवास की मर्यादा को ताक पर रखकर इन कार्यकर्ताओं ने उसे सपा के आपसी झगड़े का अखाड़ा बना दिया।




दोनों सपा गुट के लोग आपस में ही भिड़े व पोस्टर, बैनर आदि फाड़े गये। प्रदेश की जनता से भ्रमित नहीं होने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी बिगड़ैल सरकार से कोई उम्मीद नही करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सपा परिवार व सपा सरकार के आपसी झगड़े से ‘‘दो जून 1995 की लखनऊ स्टेट गेस्ट हाऊस काण्ड’ की याद भी ताजा हो जाती है, जब तत्कालीन सपा सरकार से बसपा द्वारा समर्थन वापस लेने पर उन पर जानलेवा हमला किया गया था।

Loading...