सपा सुप्रीमों को हो गया अहसास, सत्ता में वापस नहीं आएगी पार्टी: मायावती

लखनऊ। सूबे की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने एक बार फिर सपा सरकार पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार आधे-अधूरे कार्यों का उद्घाटन कर प्रदेश की जनता के हितों से खिलवाड कर रही है। मुख्यमंत्री विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बिना पूरी तैयारी के जल्दबाजी और आपाधापी में आए दिन आधे-अधूरे कार्यों का उद्घाटन, लोकार्पण और शिलान्यास कर लोगों की आंखों में धूल झोंककर चुनाव में फायदा लेने का सपना देख है लेकिन इससे सपा का फायदा कम नुकसान ज्यादा होगा। जनता सपा के छलावा को समझ चुकी है।




बसपा सुप्रीमों ने यह भी कहा कि सपा सुप्रीमों को यह पूरी तरह से एहसास हो चुका है कि इनकी पार्टी फिर से यूपी की सत्ता में वापस आने वाली नहीं है। इसीलिए बचे हुए लैपटाप को रेवड़ी की तरह ही अधिकांश सपा के कार्यकर्ताओं को ही बांटने का अनैतिक काम किया जा रहा है। मायावती ने कहा कि सपा सरकार के मुखिया काफी मनमाने तौर पर कुछ अंतराल के बाद लोगों को पुरस्कार बांट कर लोगों की आंखों में धूल झोंकने वाला काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वोटों के स्वार्थ के चलते चुनाव से पहले विभिन्न धर्मों व जातियों के लोगों में कितने ही पुरस्कार क्यों न बांट दें, वे सत्ता में नही लौट पाएंगे।




मायावती ने आगे यह भी कहा कि प्रदेश की जनता कानून-व्यवस्था की बदतर स्थिति को ही ध्यान में रखकर ही अपना वोट सही पार्टी को देंगी। सूबे में हर स्तर पर व्याप्त अराजकता, गुंडा व जंगलराज से समाज के हर धर्म व हर वर्ग के लोग पीड़ित व दुखी हैं। इसके अलावा, सपा के ही गलत नक्शे कदम पर चलते हुए भाजपा के केंद्रीय मंत्रीगण को भी ठीक विधानसभा चुनाव से पहले यहां विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास आदि करने की याद आई है। वास्तव में यह सब लोगों की आंखों में धूल झोंकने के सिवाय कुछ भी नहीं है।