नवरात्र से शुरू करेंगे मायावती और अखिलेश रैली, यहां कर सकते हैं एक साथ सभा !

akhilesh and mayawati
नवरात्र से शुरू करेंगे मायावती और अखिलेश रैली, यहां कर सकते हैं एक साथ सभा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सपा—बसपा का गठबंधन कितना रंग लाता है यह लोकसभा चुनाव में ​देखेने को मिलेग। लेकिन दोनों पार्टियों ने चुनावी मैदान में उतरने के लिए कमर कस ली है। एक निजी चैनल के इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने कहा कि नवरात्र के समय से वह अपनी रैलियां करेंगे। इसके साथ ही मायावती के साथ संयुक्त रैली करने की भी उम्मीद है।

Mayawati And Akhilesh Rally Starting With Navaratri Can Together Here :

रैली में एक मंच परी अखिलेश और मायावती के दिखने के बाद से यूपी की सियासत में जरूर नये समीकरण बनेंगे। वहीं भाजपा इसको लेकर नई—नई रणनितियां बनाने में जुटी हैं। इनकी रैलियों का तोड़ निकालने के लिए भाजपा तैयारी करने में जुटी है।

लोकसभा को लेकर सपा और बसपा अपने—अपने तरीकों से चुनावी मैदान में उतर गए हैं। बुधवार मायावती और अखिलेश की मुलाकात भी चुनावी तैयारियों के लेकर हुईं थीं। इसके साथ अमेठी और रायबरेली से प्रत्याशी उतारने को लेकर भी चर्चा हुई थी।

बताया जा रहा है कि चुनावी रैलियों में मायावती और अखिलेश एक मंज पर दिख सकते हैं। इसको लेकर दोनों की मुलाकात में चर्चा हुई थी। इसके साथ ही चुनाव में दोनों पार्टियां किस तरह से प्रचार करें यह भी बातें हुईं थीं। गौरतलब है कि यह गठबंधन उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर बीजेपी को रोकने के लिए किया गया है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सपा—बसपा का गठबंधन कितना रंग लाता है यह लोकसभा चुनाव में ​देखेने को मिलेग। लेकिन दोनों पार्टियों ने चुनावी मैदान में उतरने के लिए कमर कस ली है। एक निजी चैनल के इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने कहा कि नवरात्र के समय से वह अपनी रैलियां करेंगे। इसके साथ ही मायावती के साथ संयुक्त रैली करने की भी उम्मीद है।

रैली में एक मंच परी अखिलेश और मायावती के दिखने के बाद से यूपी की सियासत में जरूर नये समीकरण बनेंगे। वहीं भाजपा इसको लेकर नई—नई रणनितियां बनाने में जुटी हैं। इनकी रैलियों का तोड़ निकालने के लिए भाजपा तैयारी करने में जुटी है।

लोकसभा को लेकर सपा और बसपा अपने—अपने तरीकों से चुनावी मैदान में उतर गए हैं। बुधवार मायावती और अखिलेश की मुलाकात भी चुनावी तैयारियों के लेकर हुईं थीं। इसके साथ अमेठी और रायबरेली से प्रत्याशी उतारने को लेकर भी चर्चा हुई थी।

बताया जा रहा है कि चुनावी रैलियों में मायावती और अखिलेश एक मंज पर दिख सकते हैं। इसको लेकर दोनों की मुलाकात में चर्चा हुई थी। इसके साथ ही चुनाव में दोनों पार्टियां किस तरह से प्रचार करें यह भी बातें हुईं थीं। गौरतलब है कि यह गठबंधन उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर बीजेपी को रोकने के लिए किया गया है।