संसद में पेश हुए आर्थिक सर्वे पर बोली मायावती- BJP दिखा रही हसीन सपने, सब हवा हवाई है

Mayawati
बसपा चीफ मायावती बोलीं कोरोना संकट में राज्यों की सीमा बंद करना गलत

लखनऊ। मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट कल संसद में पेश करेगी। इससे पहले शुक्रवार को संसद में राष्ट्रपति की मौजूदगी में आर्थिक सर्वे पेश किया गया। इस सर्वे पर बसपा सुप्रीमो मायवती ने तंज कसते हुए ट्वीट किया है। उन्होने इस सर्वे को बीजेपी द्वारा जनता को दिखाये जाने वाले हसीन सपने बताया है। उन्होने राष्ट्रपति के अभिभाषण को सरकारी लेखा-जोखा बताते हुए कहा कि इसमें जनहित को लेकर जो बातें कही गई हैं, वे हवा-हवाई हैं।

Mayawati Bid On Economic Survey Presented In Parliament Bjp Showing Beautiful Dreams All Air Is Air :

मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में लोगों की आय लगातार कम होती जा रही है। फिर भी बीजेपी सरकार लोगों को हसीन सपने दिखा रही है। संसद में पेश आर्थिक सर्वे इसी का प्रमाण है।

मायावती ने इस संबंध में कुल तीन ट्वीट किए. पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, “जैसा कि यह विदित है कि मा. राष्ट्रपति जी का अभिभाषण सरकारी लेखा-जोखा होता है और आज संयुक्त संसद के समक्ष इनके अभिभाषण में देश व जनहित को लेकर जो भी बातें कही गई हैं वे हवा-हवाई ज्यादा हैं तथा जमीनी हकीकत में बहुत कम हैं। यह किसी से छिपा नहीं है।”

दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, “इसके साथ ही, आज केंद्र सरकार द्वारा पेश की गई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, देश की जनता को काफी कुछ निराश करने वाली है।”

वहीं उन्होने तीसरे और अंतिम ट्वीट में लिखा, ” केंद्र की गलत नीतियों व कार्यकलापों के कारण बढ़ती गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी आदि से लोगों की प्रति व्यक्ति/परिवार आय लगातार कम होती जा रही है, फिर भी बीजेपी सरकार लोगों को हसीन सपने दिखा रही है। आज संसद में पेश आर्थिक सर्वे इसका ताज़ा प्रमाण है।”

लखनऊ। मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट कल संसद में पेश करेगी। इससे पहले शुक्रवार को संसद में राष्ट्रपति की मौजूदगी में आर्थिक सर्वे पेश किया गया। इस सर्वे पर बसपा सुप्रीमो मायवती ने तंज कसते हुए ट्वीट किया है। उन्होने इस सर्वे को बीजेपी द्वारा जनता को दिखाये जाने वाले हसीन सपने बताया है। उन्होने राष्ट्रपति के अभिभाषण को सरकारी लेखा-जोखा बताते हुए कहा कि इसमें जनहित को लेकर जो बातें कही गई हैं, वे हवा-हवाई हैं। मायावती ने कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण देश में लोगों की आय लगातार कम होती जा रही है। फिर भी बीजेपी सरकार लोगों को हसीन सपने दिखा रही है। संसद में पेश आर्थिक सर्वे इसी का प्रमाण है। मायावती ने इस संबंध में कुल तीन ट्वीट किए. पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा, "जैसा कि यह विदित है कि मा. राष्ट्रपति जी का अभिभाषण सरकारी लेखा-जोखा होता है और आज संयुक्त संसद के समक्ष इनके अभिभाषण में देश व जनहित को लेकर जो भी बातें कही गई हैं वे हवा-हवाई ज्यादा हैं तथा जमीनी हकीकत में बहुत कम हैं। यह किसी से छिपा नहीं है।" दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा, "इसके साथ ही, आज केंद्र सरकार द्वारा पेश की गई आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट, देश की जनता को काफी कुछ निराश करने वाली है।" वहीं उन्होने तीसरे और अंतिम ट्वीट में लिखा, " केंद्र की गलत नीतियों व कार्यकलापों के कारण बढ़ती गरीबी, महंगाई, बेरोजगारी आदि से लोगों की प्रति व्यक्ति/परिवार आय लगातार कम होती जा रही है, फिर भी बीजेपी सरकार लोगों को हसीन सपने दिखा रही है। आज संसद में पेश आर्थिक सर्वे इसका ताज़ा प्रमाण है।"