सरकार का लापरवाह रवैया मासूमों के मौत का जिम्मेदार: मायावती

लखनऊ। जहां एक तरफ पंचकूला हिंसा ने देश को झकझोर कर रख दिया वहीं विपक्षी पार्टियां इसे खट्टर सरकार की नाकामी बताते हुए जमकर निशाना साध रही हैं। बीएसपी ने सरकार पर वोट की राजनीति करने का आरोप लगते हुए खट्टर सरकार से इस्तीफे की मांग की है। शनिवार को बीएसपी प्रमुख मायावती ने भी इस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए हरियाणा सरकार पर निशाना साधा। लखनऊ स्थित बीएसपी कार्यालय पर मीडिया को संबोधित करते हुए मायावती ने इस हादसे के लिए खट्टर सरकार के लापरवाह रवैया को जिम्मेदार ठहराया। माया ने कहा कि वोट की राजनीति करने वाली खट्टर सरकार को जनहित के बारे में सोचना चाहिए था।

माया ने इस दौरान केंद्र सरकार पर भी हमला करते हुए कहा कि जबाबदेही मोदी सरकार की भी बनती है लेकिन यह जिस तरह की चुप्पी सरकार ने साध रही है यह सब वोट की राजनीति है जो कि जनहित के भी विनाशकारी है। हरियाणा हाई-कोर्ट के आदेश के बावजूद भी राज्य सरकार ने जिस तरह का लापरवाह रवैया अपनाया रखा वह बेहद ही शर्मनाक है। हिंसा में 30 से अधिक लोगों की मौत पर दुख जाहिर करते हुए कहा कि भीड़ का इस तरह से हिंसक बन जाना बेहद गलत था। जनता को कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए था।

{ यह भी पढ़ें:- ब्लड कैंसर पीड़िता से तीन नहीं छह लोगों ने किया था गैंगरेप, मंत्री ने इंस्पेक्टर को लगाई फटकार }

बता दें कि गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के तुरंत बाद पंचकूला और सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया था। उनकी सुरक्षाबलों के साथ झड़प हुई, जिसमें कम से कम 30 लोग मारे गए और 250 से ज्यादा लोग जख्मी हुए। पंचकूला में 28 लोगों की जान गई, जबकि सिरसा में दो लोगों मारे गए। हालांकि, मारे जाने वालों की तादाद 32 होने की बात सामने आ रही है। उधर, दिल्ली और यूपी में भी हिंसा के छिटपुट मामले सामने आए। नोएडा, गाजियाबाद में ऐहतियात के तौर पर धारा 144 लगा दी गई।

{ यह भी पढ़ें:- स्वच्छ भारत मिशन: राजधानी समेत शौचालय निर्माण में ये 23 जिले निकले फिसड्डी }

Loading...