सीएल वर्मा को मायावती ने पार्टी से निकाला, पार्टी विरोधी काम करने का आरोप

cl varma
सीएल वर्मा को मायावती ने पार्टी से निकाला, पार्टी विरोधी काम करने का आरोप

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर मोहनलालगंज लोकसभा सीट से 2019 का चुनाव लड़ने वाले सीएल वर्मा को मायावती ने पार्टी से बाहर निकाल दिया है। आरोप है कि सीएल वर्मा पार्टी विरोधी काम कर रहे थे, जिसके कारण यह कदम उठाया गया है। बसपा के लखनऊ जिलाध्यक्ष हरिकृष्ण गौतम ने बताया कि सीएल वर्मा अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी काम कर रहे थे।

Mayawati Expelled Cl Verma From The Party Accused Of Doing Anti Party Work :

इसकी जानकारी होने पर उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। हरिकृष्ण ने बताया कि अनुशासनहीनता की जानकारी मिलने के बाद सीएल वर्मा को चेतावनी दी गयी थी। बावजूद इसके सीएल वर्मा ने अपनी कार्यशैली में कोई सुधार नहीं किया। लिहाजा उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया।

बता दें कि, सीएल वर्मा की एक समय मायावती से बेहद करीबी थी। वे बसपा सरकार में मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी के निजी सचिव रह चुके हैं। लोकसभा चुनाव 2019 में मायावती ने सीएल वर्मा को लखनऊ के मोहनलालगंज लोकसभा से टिकट दिया था। हालांकि, सीएल वर्मा को यहां से हार का सामना करना पड़ा था। इस सीट से बीजेपी प्रत्याशी कौशल किशोर को जीत हासिल हुई थी।

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर मोहनलालगंज लोकसभा सीट से 2019 का चुनाव लड़ने वाले सीएल वर्मा को मायावती ने पार्टी से बाहर निकाल दिया है। आरोप है कि सीएल वर्मा पार्टी विरोधी काम कर रहे थे, जिसके कारण यह कदम उठाया गया है। बसपा के लखनऊ जिलाध्यक्ष हरिकृष्ण गौतम ने बताया कि सीएल वर्मा अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी काम कर रहे थे। इसकी जानकारी होने पर उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। हरिकृष्ण ने बताया कि अनुशासनहीनता की जानकारी मिलने के बाद सीएल वर्मा को चेतावनी दी गयी थी। बावजूद इसके सीएल वर्मा ने अपनी कार्यशैली में कोई सुधार नहीं किया। लिहाजा उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। बता दें कि, सीएल वर्मा की एक समय मायावती से बेहद करीबी थी। वे बसपा सरकार में मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी के निजी सचिव रह चुके हैं। लोकसभा चुनाव 2019 में मायावती ने सीएल वर्मा को लखनऊ के मोहनलालगंज लोकसभा से टिकट दिया था। हालांकि, सीएल वर्मा को यहां से हार का सामना करना पड़ा था। इस सीट से बीजेपी प्रत्याशी कौशल किशोर को जीत हासिल हुई थी।