1. हिन्दी समाचार
  2. ‘एक देश एक चुनाव’ पर भड़की मायावती, कहा, राष्ट्रीय समस्याओं से ध्यान बांटने का प्रयास

‘एक देश एक चुनाव’ पर भड़की मायावती, कहा, राष्ट्रीय समस्याओं से ध्यान बांटने का प्रयास

Mayawati Refuses To Attend One Nation One Election Meeting

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। ‘एक देश एक चुनाव’ पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सर्वदलीय बैठक करने वाले हैं। इस बैठक से विपक्ष ने दूरी बना ली है। वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने इस बैठक को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि देश की राष्ट्रीय समस्याओं से ध्यान बांटने का प्रयास है। वहीं ‘एक देश एक चुनाव’ के मुद्दे पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी,​ दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, चंद्रबाबू नायडू समेत अन्य ने बैठक में शामिल होने से इंकार कर दिया है।

पढ़ें :- इन 8 अभिनेत्रियों के मंगलसूत्र की कीमत जब जानेंगे, दांतो तले उंगली दबा लेंगे

मायावती ने ट्वीट कर लिखा है कि, बैलेट पेपर के बजाए ईवीएम के माध्यम से चुनाव की सरकारी जिद से देश के लोकतंत्र व संविधान को असली खतरे का सामना है। ईवीएम के प्रति जनता का विश्वास चिन्ताजनक स्तर तक घट गया है। ऐसे में इस घातक समस्या पर विचार करने हेतु अगर आज की बैठक बुलाई गई होती तो मैं अवश्य ही उसमें शामिल होती।’

पढ़ें :- शराब से ही होती है इन बॉलीवुड अभिनेत्रियों की सुबह, 2 नंबर वाली तो बहुत बड़ी सुपरस्टार

इसके साथ ही उन्होंने एक और ट्वीट किया है। जिसमें लिखा है कि ‘किसी भी लोकतांत्रिक देश में चुनाव कभी कोई समस्या नहीं हो सकती है और न ही चुनाव को कभी धन के व्यय-अपव्यय से तौलना उचित है। देश में ‘एक देश, एक चुनाव’ की बात वास्तव में गरीबी, महंगाई, बेरोजबारी, बढ़ती हिंसा जैसी ज्वलन्त राष्ट्रीय समस्याओं से ध्यान बांटने का प्रयास व छलावा मात्र है।’

बता दें कि ‘एक देश एक चुनाव’ के समर्थन में बीजू जनता दल खुलकर समर्थन में उतरी है। पुरी से बीजेडी सांसद पिनाकी मिश्रा का कहना है कि ओडिशा देश का एकमात्र ऐसा राज्य है जहां पिछले तीन टर्म से लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ हुए हैं। आप खुद देख सकते हैं कि ओडिशा किस गति से आगे बढ़ा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...