मायावती ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से हटाया, भेजा एमपी

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक्शन लेते हुए पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी को पार्टी के सभी पदों से हटा दिया है| वह अब सिर्फ पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव के पद पर बने रहेंगे| मायावती ने नसीमुद्दीन को यूपी की राजनीति से दूर करते हुए मध्य प्रदेश का प्रभारी बनाया है|




बसपा प्रमुख मायावती ने पार्टी संगठन में बड़े पैमाने पर फेरबदल किया है| पार्टी की भाईचारा के साथ ही मंडल, सेक्टर व बूथ कमेटियों को भंग कर दिया गया है| कई जोन की व्यवस्था खत्म करते हुए प्रदेश को सिर्फ दो जोन में बांटकर आठ-आठ जोन कोआर्डिनेटर बनाये गए हैं| उलटफेर की खास बात यह है कि पार्टी के मुस्लिम चेहरा माने जाने वाले नसीमुद्दीन सिद्दीकी का रुतबा जहां घटाया गया है वहीं राम अचल राजभर और डा.अशोक सिद्धार्थ का कद बढ़ा है| मायावती ने पार्टी के ब्राह्मण चेहरा सतीश चंद्र मिश्रा को यथावत रखा है|




बता दें कि बसपा सुप्रीमो ने हाल ही में अपने भाई आनंद कुमार को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पर नियुक्त किया था| हालांकि इसके साथ ही मायावती ने साफ कर दिया था कि वह कभी सांसद, विधायक और मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे| 2019 में भाजपा से मुकाबला करने के लिए महागठबंधन पर मायावती ने कहा कि गैर भाजपा दल अगर साथ आना चाहते हैं तो हमें कोई एतराज नहीं है| उन्होंने कहा कि समय आ गया है कि जहर को जहर से काटना होगा| मायावती ने कहा कि चुनावों के दौरान बसपा के खिलाफ दुष्प्रचार किया गया|

Loading...