मायावती ने कहा- यूपी सरकार गलत आर्थिक नीतियों की सजा होमगार्डों को दे रही

mayawati
मायावती ने कहा- यूपी सरकार गलत आर्थिक नीतियों की सजा होमगार्डों को दे रही

लखनऊ। यूपी में 25 हजार होमगार्डों की नौकरी खतरे में है। चौतरफा घिरने के बाद योगी सरकार ने फिलहाल होमगार्डों को बर्खास्त करने के फैसले को वापस ले लिया है। हालांकि अब इस मसले पर राजनीति तेज हो गई है।बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि यूपी सरकार अपनी गलत आर्थिक नीतियों की सजा 25 हजार होमगार्डों को बर्खास्त करके उनके परिवार के लाखों लोगों को दे रही है। इससे प्रदेश में अराजकता और ज्यादा बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार देने के बजाए बेरोजगारी को और बढ़ा रही है।

Mayawati Said Up Government Is Punishing Homeguards For Wrong Economic Policies :

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 25 हजार होमगार्डों की योगी सरकार ने बजट का हवाला देकर ड्यूटी खत्म कर दी थी। हालांकि बाद में योगी सरकार ने इस फैसले को वापस ले लिया है। इस मामले पर होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि किसी भी होमगार्ड को नहीं निकाला जाएगा। डीजीपी से बातकर सीमित बजट में ड्यूटी देने का सुझाव दिया गया है। यूपी पुलिस अपने सीमित बजट में 17000 होमगार्ड्स को ड्यूटी पर रख सकती है। बाकी 8000 होमगार्ड्स को मुख्यालय से ड्यूटी मिलेगी।

लखनऊ। यूपी में 25 हजार होमगार्डों की नौकरी खतरे में है। चौतरफा घिरने के बाद योगी सरकार ने फिलहाल होमगार्डों को बर्खास्त करने के फैसले को वापस ले लिया है। हालांकि अब इस मसले पर राजनीति तेज हो गई है।बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने कहा कि यूपी सरकार अपनी गलत आर्थिक नीतियों की सजा 25 हजार होमगार्डों को बर्खास्त करके उनके परिवार के लाखों लोगों को दे रही है। इससे प्रदेश में अराजकता और ज्यादा बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार देने के बजाए बेरोजगारी को और बढ़ा रही है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में 25 हजार होमगार्डों की योगी सरकार ने बजट का हवाला देकर ड्यूटी खत्म कर दी थी। हालांकि बाद में योगी सरकार ने इस फैसले को वापस ले लिया है। इस मामले पर होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि किसी भी होमगार्ड को नहीं निकाला जाएगा। डीजीपी से बातकर सीमित बजट में ड्यूटी देने का सुझाव दिया गया है। यूपी पुलिस अपने सीमित बजट में 17000 होमगार्ड्स को ड्यूटी पर रख सकती है। बाकी 8000 होमगार्ड्स को मुख्यालय से ड्यूटी मिलेगी।