राहुल के वीडियो पर ‘माया’ का तंज, बोली- हमदर्दी कम नाटक ज्यादा, दुर्दशा की असली कसूरवार कांग्रेस

mayawati
राहुल के वीडियो पर 'माया' का तंज, बोली- हमदर्दी कम नाटक ज्यादा, दुर्दशा की असली कसूरवार कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज मजदूरों से बातचीत का वीडियो जारी किया। इस वीडियो पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती भड़क गई हैं। ट्विटर पर मायावती ने लिखा है कि मजदूरों से बातचीत का राहुल का वीडियो हमदर्दी कम नाटक ज्यादा लग रहा है। मजदूरों की दुर्दशा की असली कसूरवार कांग्रेस है। बता दें कि शहरों से मजदूर जब घर वापसी कर रहे थे तब राहुल गांधी ने मजदूरों से कैमरे के सामने बात की और आज इस पूरी बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया है।

Mayawati Takes A Jibe At Rahul Gandhi For Shares Documentary On Interaction With Migrants :

मायावती ने ट्वीट किया, “आज पूरे देश में कोरोना लॉकडाउन के कारण करोड़ों प्रवासी श्रमिकों की जो दुर्दशा दिख रही है उसकी असली कसूरवार कांग्रेस है क्योंकि आजादी के बाद इनके लंबे शासनकाल के दौरान अगर रोजी-रोटी की सही व्यवस्था गांव/शहरों में की होती तो इन्हें दूसरे राज्यों में क्यों पलायन करना पड़ता?”


मायावती ने दूसरे ट्वीट में लिखा, “कांग्रेसी नेता द्वारा लॉकडाउन त्रासदी के शिकार कुछ श्रमिकों के दुःख-दर्द बांटने का जो वीडियो दिखाया जा रहा है वो हमदर्दी वाला कम और नाटक ज्यादा लगता है। कांग्रेस अगर यह बताती कि उसने उनसे मिलते समय कितने लोगों की वास्तविक मदद की है तो यह बेहतर होता।”

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज मजदूरों से बातचीत का वीडियो जारी किया। इस वीडियो पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती भड़क गई हैं। ट्विटर पर मायावती ने लिखा है कि मजदूरों से बातचीत का राहुल का वीडियो हमदर्दी कम नाटक ज्यादा लग रहा है। मजदूरों की दुर्दशा की असली कसूरवार कांग्रेस है। बता दें कि शहरों से मजदूर जब घर वापसी कर रहे थे तब राहुल गांधी ने मजदूरों से कैमरे के सामने बात की और आज इस पूरी बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया है। मायावती ने ट्वीट किया, "आज पूरे देश में कोरोना लॉकडाउन के कारण करोड़ों प्रवासी श्रमिकों की जो दुर्दशा दिख रही है उसकी असली कसूरवार कांग्रेस है क्योंकि आजादी के बाद इनके लंबे शासनकाल के दौरान अगर रोजी-रोटी की सही व्यवस्था गांव/शहरों में की होती तो इन्हें दूसरे राज्यों में क्यों पलायन करना पड़ता?" मायावती ने दूसरे ट्वीट में लिखा, "कांग्रेसी नेता द्वारा लॉकडाउन त्रासदी के शिकार कुछ श्रमिकों के दुःख-दर्द बांटने का जो वीडियो दिखाया जा रहा है वो हमदर्दी वाला कम और नाटक ज्यादा लगता है। कांग्रेस अगर यह बताती कि उसने उनसे मिलते समय कितने लोगों की वास्तविक मदद की है तो यह बेहतर होता।"