मायावती का बीजेपी पर निशाना, कहा- प्रदेश में भगवा ब्रिगेड को कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ की खुली छूट

लखनऊ| बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने पार्टी संगठन में फेरबदल के बाद की स्थिति तथा देश व प्रदेश की वर्तमान राजनीतिक हालात पर पार्टी के जिम्मेदार व प्रमुख पदाधिकारियों के साथ आज लखनऊ में हुई बैठक में समीक्षा की और इस दौरान पायी गयी कमियों को दूर करने के लिये दिशा-निर्देंश दिया।




बीएसपी उत्तर प्रदेश स्टेट यूनिट कार्यालय 12 माल एवेन्यू में आयोजित इस महत्वपूर्ण बैठक में मायावती ने पार्टी की पिछली दो बैठकों के साथ-साथ दिनांक 14 अप्रैल को बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर जयन्ती सम्बन्धी कार्यक्रम के उपरान्त दिये गये कार्यों की समीक्षा की और उसके बाद पार्टी संगठन में थोड़े फेरबदल के बाद नये सिरे से दी गई जिम्मेदारियों की समीक्षा की और वर्तमान नयी राजनीतिक चुनौतियों का सामना करने के लिये शुरू किये गये कार्यों के लिये अलग से दिशा-निर्देंश दिया।

उन्होंने उत्तर प्रदेश में शहरी निकायों के लिये शीघ्र ही होने वाले चुनाव की तैयारियों की भी समीक्षा की क्योंकि इस बार बीएसपी ने पार्टी के चुनाव चिन्ह पर ही यह चुनाव लड़ने का फैसला पहली बार किया है। इसके अलावा खासकर उत्तर प्रदेश के राजनीतिक हालात पर फीडबैक प्राप्त करने के बाद अपने सम्बोधन में मायावती ने कहा कि बीजेपी की नीतियों व कार्यक्रमों से विशेषकर समाज के उपेक्षितों, दलितों व अन्य पिछड़े वर्गों में बेचैनी बढ़ रही है क्योंकि इन वर्ग के करोड़ों लोगों की वैसी ही उपेक्षा व शोषण लगातार जारी है जैसाकि पिछली सरकार में इनके हित व कल्याण की हो रही थी।




मायावती ने कहा कि प्रदेश की बीजेपी सरकार भी केन्द्र की सरकार की तरह ही समाज के व्यापक हित में ठोस काम करने के बजाय सस्ती लोकप्रियता हासिल करने वाले कामों पर ज्यादा ध्यान दे रही है। साथ ही, बीजेपी सरकार में कानून-व्यवस्था से खिलवाड़ करके हीरो बनने की घातक प्रवृत्ति उसी प्रकार से पनप रही है जैसे की पूर्ववर्ती सरकार में प्रदेश में हर स्तर पर देखने को मिलती थी और जिससे यहां की जनता काफी ज्यादा त्रस्त व दुःखी रही थी। प्रदेश में ख़ासकर भगवा ब्रिगेड को क़ानून-व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने की वैसी ही छूट मिली हुई है जैसाकि पिछली सरकार में उस पार्टी के गुण्डों व माफियाओं को मिली हुई थी।

Loading...