Politics: योगी सरकार के बजट पर माया ने की तीखी आलोचना, जानिए क्या कहा?

b

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने योगी सरकार की आलोचना की है। बजट के बाद अपने ट्वीट में सरकार पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि केवल संगम स्नान से ही सरकारों के किए पाप नहीं धुलते और जनता अब सब समझती है।

Mayawati Targets Yogi Over Budget :

उन्होंने यह भी कहा कि बजट चाहे कितना भी लोक लुभावन हो लेकिन असल में साल भर का जनहित कार्य और कानून व्यवस्था का विषय ही आम लोगों के लिए जरूरी होता है। ट्वीट में बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने कहा कि चुनावी वर्ष में बीजेपी सरकारों का बजट चाहे कितना भी लुभावना क्यों ना हो वास्तव में सरकार द्वारा साल भर में किया गया जनहित और जनकल्याण का काम ही जनता के लिये महत्वपूर्ण होता है।

अपने ट्वीट में मायावती ने लिखा इन मामलो में केंद्र और खासकर उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार बुरी तरह से विफल हुई है जो जगजाहिर है। केवल संगम स्नान से सरकारों के पाप नहीं धुल सकते हैं जनता बहुत होशियार है और सब जानती समझती है।

बता दें कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुरुवार को यूपी के इतिहास का सबसे बड़ा पेश करते हुए चुनावी साल में सबको साधने की कोशिश की। योगी ने अयोध्या, मथुरा, नैमिषारण्य आदि हिंदू तीर्थस्थलों के विकास के लिए बजट में जहां खुलकर पैसा दिया।

वहीं मदरसों के आधुनिकीकरण और मुस्लिम बच्चों के लिए वजीफे का ऐलान भी किया। यूपी के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने गुरुवार को 4.79 लाख करोड़ का बजट पेश किया। पिछले बजट के मुकाबले यह बजट 12 प्रतिशत अधिक है। बजट के बाद सीएम योगी ने इसे यूपी के इतिहास का सबसे बड़ बजट बताया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने योगी सरकार की आलोचना की है। बजट के बाद अपने ट्वीट में सरकार पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि केवल संगम स्नान से ही सरकारों के किए पाप नहीं धुलते और जनता अब सब समझती है। उन्होंने यह भी कहा कि बजट चाहे कितना भी लोक लुभावन हो लेकिन असल में साल भर का जनहित कार्य और कानून व्यवस्था का विषय ही आम लोगों के लिए जरूरी होता है। ट्वीट में बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए मायावती ने कहा कि चुनावी वर्ष में बीजेपी सरकारों का बजट चाहे कितना भी लुभावना क्यों ना हो वास्तव में सरकार द्वारा साल भर में किया गया जनहित और जनकल्याण का काम ही जनता के लिये महत्वपूर्ण होता है। अपने ट्वीट में मायावती ने लिखा इन मामलो में केंद्र और खासकर उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार बुरी तरह से विफल हुई है जो जगजाहिर है। केवल संगम स्नान से सरकारों के पाप नहीं धुल सकते हैं जनता बहुत होशियार है और सब जानती समझती है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुरुवार को यूपी के इतिहास का सबसे बड़ा पेश करते हुए चुनावी साल में सबको साधने की कोशिश की। योगी ने अयोध्या, मथुरा, नैमिषारण्य आदि हिंदू तीर्थस्थलों के विकास के लिए बजट में जहां खुलकर पैसा दिया। वहीं मदरसों के आधुनिकीकरण और मुस्लिम बच्चों के लिए वजीफे का ऐलान भी किया। यूपी के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने गुरुवार को 4.79 लाख करोड़ का बजट पेश किया। पिछले बजट के मुकाबले यह बजट 12 प्रतिशत अधिक है। बजट के बाद सीएम योगी ने इसे यूपी के इतिहास का सबसे बड़ बजट बताया।