योगी सरकार का मायावती को जबाब- इच्छाशक्ति थी तो क्यों नही लागू किया पुलिस कमिश्नर सिस्टम?

Shrikant sharma
योगी सरकार का मायावती को जबाब- इच्छाशक्ति थी तो क्यों नही लागू किया पुलिस कमिश्नर सिस्टम?

लखनऊ। मायावती का आज 64वां जन्मदिन है, उन्होने जन्मदिन के मौके पर प्रेस वार्ता की थी, इस दौरान उन्होने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाये थे साथ ही यूपी में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की शुरूवात को लेकर भी तंज कसा था। वहीं योगी सरकार की तरफ से भी अब मायावती के बयान पर पलटवार किया गया है। सरकार की तरफ से ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि अगर मायावती के अंदर इच्छाशक्ति थी तो अपनी सरकार में क्यों नही लागू किया पुलिस कमिश्नरी सिस्टम।

Mayawatis Answer To Yogi Government If She Had The Will Why Did Not Implement Police Commissioner System :

इस दौरान श्रीकांत शर्मा ने पहले मायावती को जन्मदिन की बधाई दी और फिर उनको जबाब देते हुए कहा कि बहन जी को यह ध्यान में होना चाहिए कि यह जीरो टॉलरेंस वाली सरकार है। प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल रही सरकार में अपराधियों और भ्रष्टाचारियों को कोई संरक्षण नहीं है। आज भ्रष्टाचारी और अपराधी जेल में हैं या जमानत पर हैं। सरकार के फैसले इन सब बातों के प्रमाण है। आज गरीब के हिस्से की मदद गरीब के बैंक खाते में सीधे जा रही है। उन्होंने कहा कि इच्छाशक्ति होती तो पुलिस कमिश्नर सिस्टम वह क्यों लागू नहीं कर सकीं। इस सरकार ने राजनीतिक इच्छाशक्ति दिखाई और सुधारों पर अमल भी किया है।

उन्होने कहा कि मायावती देश को यह बताएं कि वह पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आये पीड़ित हिन्दू शरणार्थियों को नागरिकता मिलने के पक्ष में क्यों नहीं हैं? उनमें हिम्मत है तो वह यह भी कहें कि बसपा घुसपैठियों को नागरिकता देने की बात करने वालों के साथ है। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि बहन जी को अपना कन्फ्यूजन दूर कर लेना चाहिए। उन्हें यह पता होगा कि कांग्रेस की केंद्र सरकार को वह खुलकर समर्थन दे रही थीं। 10 सालों तक उनके समर्थन से दिल्ली में चली सरकार ने देश को लूटा। वह देश को लूट रहे थे तो आपकी पार्टी की सरकार ने यूपी के खजाने की खुली लूट की। बहन जी आंकड़ों पर गौर करे, कांग्रेस सरकार में महंगाई दर 10 फीसदी से ऊपर रही जबकि आज के समय में यह दर सिंगल डिजिट में है

लखनऊ। मायावती का आज 64वां जन्मदिन है, उन्होने जन्मदिन के मौके पर प्रेस वार्ता की थी, इस दौरान उन्होने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाये थे साथ ही यूपी में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की शुरूवात को लेकर भी तंज कसा था। वहीं योगी सरकार की तरफ से भी अब मायावती के बयान पर पलटवार किया गया है। सरकार की तरफ से ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि अगर मायावती के अंदर इच्छाशक्ति थी तो अपनी सरकार में क्यों नही लागू किया पुलिस कमिश्नरी सिस्टम। इस दौरान श्रीकांत शर्मा ने पहले मायावती को जन्मदिन की बधाई दी और फिर उनको जबाब देते हुए कहा कि बहन जी को यह ध्यान में होना चाहिए कि यह जीरो टॉलरेंस वाली सरकार है। प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल रही सरकार में अपराधियों और भ्रष्टाचारियों को कोई संरक्षण नहीं है। आज भ्रष्टाचारी और अपराधी जेल में हैं या जमानत पर हैं। सरकार के फैसले इन सब बातों के प्रमाण है। आज गरीब के हिस्से की मदद गरीब के बैंक खाते में सीधे जा रही है। उन्होंने कहा कि इच्छाशक्ति होती तो पुलिस कमिश्नर सिस्टम वह क्यों लागू नहीं कर सकीं। इस सरकार ने राजनीतिक इच्छाशक्ति दिखाई और सुधारों पर अमल भी किया है। उन्होने कहा कि मायावती देश को यह बताएं कि वह पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आये पीड़ित हिन्दू शरणार्थियों को नागरिकता मिलने के पक्ष में क्यों नहीं हैं? उनमें हिम्मत है तो वह यह भी कहें कि बसपा घुसपैठियों को नागरिकता देने की बात करने वालों के साथ है। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि बहन जी को अपना कन्फ्यूजन दूर कर लेना चाहिए। उन्हें यह पता होगा कि कांग्रेस की केंद्र सरकार को वह खुलकर समर्थन दे रही थीं। 10 सालों तक उनके समर्थन से दिल्ली में चली सरकार ने देश को लूटा। वह देश को लूट रहे थे तो आपकी पार्टी की सरकार ने यूपी के खजाने की खुली लूट की। बहन जी आंकड़ों पर गौर करे, कांग्रेस सरकार में महंगाई दर 10 फीसदी से ऊपर रही जबकि आज के समय में यह दर सिंगल डिजिट में है