मायावती का सरकार पर हमला, ‘यूपी में कानून का नही अपराधियों का जंगलराज है’

mayavati
मायावती का सरकार पर हमला, 'यूपी में कानून का नही अपराधियों का जंगलराज है'

लखनऊ। झांसी में हुए कथित एनकाउंटर को लेकर विपक्ष ने सरकार को चारो तरफ से घेरना शुरू कर दिया है। जहां अखिलेश यादव ने कहा कि पुष्पेन्द्र का एनकाउन्टर नही बल्कि उसकी हत्या हुई है। वहीं अब बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी योगी सरकार में हुए एनकाउंटरों को लेकर बड़ा सवाल खड़ा किया है। यही नही मायावती ने यह भी कह दिया कि यूपी में कानून का राज नही बल्कि अपराधियों का जगंलराज है।

Mayawatis Attack On The Government Junk Raj Of Criminals Not Law In Up :


मायावती ने टि्वट करते हुए कहा, ”यूपी की राजधानी लखनऊ में जब खुलेआम अपराध जारी है तो फिर अन्य जिलों की भी दयनीय स्थिति समझी जा सकती है। फर्जी एन्काउन्टर को लेकर भी जनता में काफी रोष व बेचैनी है और वे आवाज उठा रहे हैं। स्पष्ट है कि यूपी में कानून का नहीं बल्कि अपराधियों का जंगलराज चल रहा है। सरकार तुरन्त ध्यान दे’

आपको बता दें कि 5 अक्टूबर को मोंठ थाना पुलिस ने पुष्पेन्द्र यादव का एनकाउंटर कर दिया था, एनकाउन्टर के बाद झांसी के एसएसपी ओपी सिंह द्वारा बताया गया था पुष्पेन्द्र यादव खनन कारोबारी था और उसने 5 अक्टूबर को कानपुर से लौटकर मोंठ थाने जा रहे थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह चौहान पर जानलेवा हमला किया था। वहीं पुष्पेंद्र यादव की पत्नी शिवांगी का दावा है कि पुलिस उनके पति से पकड़ा गया ट्रक छोड़ने के बदले रिश्वत मांग रही थी, शिवांगी ने कहा, “पहले ही पचास हज़ार रुपए पुलिस को दे दिए थे. जब दोबारा और रुपए मांगे तो मेरे पति ने पहले दिए रुपए वापस मांगे, इसी बात पर मार डाला.”।

लखनऊ। झांसी में हुए कथित एनकाउंटर को लेकर विपक्ष ने सरकार को चारो तरफ से घेरना शुरू कर दिया है। जहां अखिलेश यादव ने कहा कि पुष्पेन्द्र का एनकाउन्टर नही बल्कि उसकी हत्या हुई है। वहीं अब बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी योगी सरकार में हुए एनकाउंटरों को लेकर बड़ा सवाल खड़ा किया है। यही नही मायावती ने यह भी कह दिया कि यूपी में कानून का राज नही बल्कि अपराधियों का जगंलराज है। मायावती ने टि्वट करते हुए कहा, ''यूपी की राजधानी लखनऊ में जब खुलेआम अपराध जारी है तो फिर अन्य जिलों की भी दयनीय स्थिति समझी जा सकती है। फर्जी एन्काउन्टर को लेकर भी जनता में काफी रोष व बेचैनी है और वे आवाज उठा रहे हैं। स्पष्ट है कि यूपी में कानून का नहीं बल्कि अपराधियों का जंगलराज चल रहा है। सरकार तुरन्त ध्यान दे' आपको बता दें कि 5 अक्टूबर को मोंठ थाना पुलिस ने पुष्पेन्द्र यादव का एनकाउंटर कर दिया था, एनकाउन्टर के बाद झांसी के एसएसपी ओपी सिंह द्वारा बताया गया था पुष्पेन्द्र यादव खनन कारोबारी था और उसने 5 अक्टूबर को कानपुर से लौटकर मोंठ थाने जा रहे थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह चौहान पर जानलेवा हमला किया था। वहीं पुष्पेंद्र यादव की पत्नी शिवांगी का दावा है कि पुलिस उनके पति से पकड़ा गया ट्रक छोड़ने के बदले रिश्वत मांग रही थी, शिवांगी ने कहा, "पहले ही पचास हज़ार रुपए पुलिस को दे दिए थे. जब दोबारा और रुपए मांगे तो मेरे पति ने पहले दिए रुपए वापस मांगे, इसी बात पर मार डाला."।