मायावती के भतीजे आकाश ने किया पहली बार रैली को संबोधित, चुनाव आयोग पर साधा निशाना

akash anand
मायावती के भतीजे आकाश ने किया पहली बार रैली को संबोधित, चुनाव आयोग पर साधा निशाना

आगरा। आगरा में आज गठबंधन की रैली थी। इस रैली में अखिलेश यादव, रालोद प्रमुख अजित सिंह और मायावती के भतीजे आकाश शामिल हुए। हालांकि चुनाव आयोग के प्रतिबंध के कारण मायावती रैली में नहीं पहुंच सकी। इस कारण उनके भतीजे आकाश ने उनकी जगह रैली को संबोधित किया। पहली ही रैली में आकाश अक्रामक दिखे और उन्होंने चुनाव आयोग पर निशाना साधा। बसपा सुप्रीमो मायावती सार्वजनिक मंच से पहले ही आकाश के सक्रिय राजनीति में आने के संकेत दे चुकी हैं।

Mayawatis Nephew Akash Has Addressed The Rally For The First Time A Simple Target On The Election Commission :

यूपी में सपा—बसपा और रालोद गठबंधन कर लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। यह गठबंधन यूपी में बीजेपी को रोकने के लिए किया गया है। चुनाव आयोग के प्रतिबंध के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती रैली में नहीं पहुंच सकी थी। उनकी जगह उनका भतीजा आकाश आनंद पहुंचे थे। आकाश ने राजनीतिक पारी में पहली बार रैली को संबोधित किया।

आगरा और फतेहपुर सीकरी लोकसभा क्षेत्र में अभी तक गठबंधन की कोई बड़ी रैली नहीं हुई है। इसी रैली पर काफी कुछ दारोमदार माना जा रहा है। आकाश आनंद मायावती के भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। बसपा सुप्रीमो ने पहले ही आकाश के राजनीति में आने के संकेत दे दिये थे। आगरा के कोठी मीना बाजार में आयोजित रैली को पहली बार आकाश आनंद ने संबोधित किया।

इस दौरान वह आक्रामक दिखे। उन्होंने भाषण की शुरूआत करते हुए जय भीम के नारे लगाये और रैली में आये लोगों का आभार व्य​क्त किया। भाषण की शुरूआत करते हुए आकाश ने कहा कि मैं आप लोगों के सामने पहली बार आया हूं। क्या आप मेरी बात मानोगे।

उन्होंने कहा कि गठबंधन के प्रत्याशी को जिताकर सामने वाली की जमानत जब्त कराना है। तभी आप सभी का चुनाव आयोग को सही जवाब होगा। वहीं दौरान मंच पर सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, रालोद मुखिया अजित सिंह और बसपा महासचिव सतीश मिश्रा मौजूद रहे।

आगरा। आगरा में आज गठबंधन की रैली थी। इस रैली में अखिलेश यादव, रालोद प्रमुख अजित सिंह और मायावती के भतीजे आकाश शामिल हुए। हालांकि चुनाव आयोग के प्रतिबंध के कारण मायावती रैली में नहीं पहुंच सकी। इस कारण उनके भतीजे आकाश ने उनकी जगह रैली को संबोधित किया। पहली ही रैली में आकाश अक्रामक दिखे और उन्होंने चुनाव आयोग पर निशाना साधा। बसपा सुप्रीमो मायावती सार्वजनिक मंच से पहले ही आकाश के सक्रिय राजनीति में आने के संकेत दे चुकी हैं। यूपी में सपा—बसपा और रालोद गठबंधन कर लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। यह गठबंधन यूपी में बीजेपी को रोकने के लिए किया गया है। चुनाव आयोग के प्रतिबंध के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती रैली में नहीं पहुंच सकी थी। उनकी जगह उनका भतीजा आकाश आनंद पहुंचे थे। आकाश ने राजनीतिक पारी में पहली बार रैली को संबोधित किया। आगरा और फतेहपुर सीकरी लोकसभा क्षेत्र में अभी तक गठबंधन की कोई बड़ी रैली नहीं हुई है। इसी रैली पर काफी कुछ दारोमदार माना जा रहा है। आकाश आनंद मायावती के भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। बसपा सुप्रीमो ने पहले ही आकाश के राजनीति में आने के संकेत दे दिये थे। आगरा के कोठी मीना बाजार में आयोजित रैली को पहली बार आकाश आनंद ने संबोधित किया। इस दौरान वह आक्रामक दिखे। उन्होंने भाषण की शुरूआत करते हुए जय भीम के नारे लगाये और रैली में आये लोगों का आभार व्य​क्त किया। भाषण की शुरूआत करते हुए आकाश ने कहा कि मैं आप लोगों के सामने पहली बार आया हूं। क्या आप मेरी बात मानोगे। उन्होंने कहा कि गठबंधन के प्रत्याशी को जिताकर सामने वाली की जमानत जब्त कराना है। तभी आप सभी का चुनाव आयोग को सही जवाब होगा। वहीं दौरान मंच पर सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, रालोद मुखिया अजित सिंह और बसपा महासचिव सतीश मिश्रा मौजूद रहे।