1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मेयर के भतीजे ने 20 लाख की जमीन ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, ये मेरी समझ से परे : महंत देवेंद्र प्रसाद

मेयर के भतीजे ने 20 लाख की जमीन ट्रस्ट को 2.5 करोड़ में बेची, ये मेरी समझ से परे : महंत देवेंद्र प्रसाद

अयोध्या में राम मंदिर के लिए खरीदी गई जमीन को लेकर आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं। इस बार आरोप किसी राजनीतिक दल की तरफ से नहीं लगाया गया है। ​बल्कि अयोध्या के महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य ने मेयर ऋषिकेश उपाध्याय पर बड़ा आरोप लगाया है। इस आरोप के घेर में मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के भतीजे दीप नारायण उपाध्याय की भूमिका सामने आई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

अयोध्या । अयोध्या में राम मंदिर के लिए खरीदी गई जमीन को लेकर आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं। इस बार आरोप किसी राजनीतिक दल की तरफ से नहीं लगाया गया है। ​बल्कि अयोध्या के महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य ने मेयर ऋषिकेश उपाध्याय पर बड़ा आरोप लगाया है। इस आरोप के घेर में मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के भतीजे दीप नारायण उपाध्याय की भूमिका सामने आई है। उन्होंने कहा कि मेयर खुद उनसे राम मंदिर के नाम पर जमीन मांगने आए थे। हालांकि मेयर ने महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य इन आरोपों को खारिज कर दिया है।

पढ़ें :- सीएम योगी, बोले- अयोध्या वैश्विक टूरिज्म हब के साथ ही एजुकेशन व स्वास्थ्य सुविधाओं का केन्द्र बनेगी

महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य ने बताया कि राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से उनसे कोई नहीं मिला था। मेयर ही उनसे मिले थे। उन्होंने हमसे कहा कि रामलला ट्रस्ट को जमीन की जरूरत है, तो हमने कहा कि ले लें। हमें लगा कि वह ट्रस्ट से अधिकृत हैं। इसलिए राम जी के लिए हमने जमीन दे दी।

इसके बाद उन्होंने जमीन को 2.5 करोड़ में कैसे बेच दिया, ये मेरी समझ से परे है। उन्होंने कहा कि अगर इतनी महंगी ट्रस्ट को बेच रहे थे, हमें भी उस हिसाब से देना चाहिए था। महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य ने कहा कि भगवान के नाम पर पैसों का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। ये गलत है। अयोध्या में राम जी जानें कि क्या हो रहा है? राम जी के नाम पर जो ठगेगा, उसे राम जी ही देखेंगे। भगवान सबको सद्बुद्धि दे कि उनके पैसे का दुरुपयोग न हो।

मैं नहीं मिलने गया महंत से : मेयर

वहीं अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय ने महंत के लगाए सभी आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने बताया कि वो एक-दो दिन में जवाबों के साथ हाजिर होंगे। उन्होंने कहा कि मैं महंत से मिलने नहीं गया था। ये मुझ पर राजनीतिक वार है। मैं कोर्ट में इन आरोपों का जवाब दूंगा। भतीजे दीप नारायण उपाध्याय की भूमिका पर मेयर ने कुछ नहीं कहा। मेयर ने बस इतना कहा कि किसी ने गड़बड़ी की होगी तो कार्रवाई होगी।

पढ़ें :- हनुमानगढ़ी अयोध्या ने पटना के महावीर मंदिर पर ठोका अपना दावा, जानें क्या है पूरा मामला

जानें क्या है पूरा मामला?

मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के भतीजे दीप नारायण उपाध्याय ने 20 फरवरी 2021 को अयोध्या के महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य से 135 से 890 वर्ग मीटर की जमीन अयोध्या के महंत देवेंद्र प्रसाद आचार्य से 20 लाख रुपए में खरीदी थी। 3 महीने बाद 11 मई 2021 को दीप नारायण ने इसी जमीन को राम मंदिर ट्रस्ट को 2.5 करोड़ रुपए में बेच दिया। इतना ही नहीं, मेयर के भतीजे ने एक 676.86 वर्ग मीटर की एक और जमीन 27 लाख में खरीदी और इसे 1 करोड़ में ट्रस्ट को बेच दी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...