एमबीबीएस दाखिले में मेडिकल कालेजों ने मोटी रकम वसूलकर किया 650 छात्रों का फर्जी एडमिशन

लखनऊ: बैचेलर ऑफ मेडिसिन और बैचेलर ऑफ सर्जरी (एमबीबीएस) के दाखिले में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। यहां राष्टीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (एनईईटी) की मेरिट को दरकिनार करते हुए राजधानी लखनऊ समेत दर्जन भर प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस में 650 छात्रों को प्रवेश दे दिया गया है। दाखिले में फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं।



इस मामले में मेडिकल काउंसिल के संयुक्त सचिव डॉ. राजेंद्र वावेले की ओर से 100 पेज से अधिक की रिपोर्ट दाखिल की गई है। इसके अलावा फर्जीवाड़ा करने वाले मेडिकल कॉलेजों को भी नोटिस भेजा है। प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों के इस बड़े फर्जीवाड़े से 650 एमबीबीएस छात्रों का भविष्य दांव पर लग गया है।





जांच रिपोर्ट आने के बाद तय है कि ये सभी अपात्र दाखिले रद्द किये जाएंगे। एमसीआई मानकों के विपरीत एडमिशन को स्वीकृति नहीं दे सकता है। यही नहीं ऐसा फर्जीवाड़ा करने वाले कॉलेजों की मान्यता भी रद्द की जा सकती है।