McDonald के CEO को कंपनी ने किया बर्खास्त, कर्मचारी की सहमति से बनाए थे संबंध

mc
McDonald के CEO को कंपनी ने किया बर्खास्त, कर्मचारी की सहमति से बनाए थे संबंध

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी फास्ट फूड चेन मैकडोनाल्ड्स (McDonald) के सीईओ स्टीव ईस्टपब्रुक (Steve Easterbrook) को अपनी एंप्लायी के साथ संबंध रखने को लेकर नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। स्टीव पर आरोप है कि उन्होंने एक कर्मचारी के साथ सहमति से रिश्ता रखा, जो कि कंपनी की नीतियों के खिलाफ है। कंपनी बोर्ड ने कहा कि ऐसा करके स्टीव ने अपने कमजोर फैसले का प्रदर्शन किया। स्टीव ने कंपनी के बोर्ड से भी इस्तीफा दे दिया है।      

Mcdonalds Ceo Was Terminated By The Company Relations Were Formed With The Consent Of The Employee :

स्टीव ने कर्मचारियों से ईमेल में कहा, “यह एक गलती थी। कंपनी के मूल्यों को देखते हुए मैं बोर्ड के इस फैसले से सहमत हूं कि मुझे यहां से जाना चाहिए।” स्टीव के बाद मैक्डॉनल्ड्स में अमेरिका विंग के प्रेसिडेंट क्रिस केम्पजिंस्की उनकी जगह लेंगे। वहीं, कंपनी के लिए इंटरनेशनल ऑपरेशंस संभाल रहे जो अर्लिंगर को यूएस विंग की जिम्मेदारी दी गई है।

2015 में बने थे कंपनी के सीईओ

इस संबंध में कंपनी ने कहा कि उन्होंने सही फैसला नहीं लिया है। बता दें कि स्टीव ईस्टरब्रुक साल 2015 में कंपनी के सीईओ बने थे। कंपनी के नियमों के मुताबिक, प्रबंधकों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष अधीनस्थों के साथ संबंध रखने की अनुमति नहीं है। ईस्टरब्रुक का कार्यकाल 1 मार्च 2015 से शुरू हुआ था।

ईस्टरब्रुक ने कर्मचारियों को लिखा पत्र

ईस्टरब्रुक ने कर्मचारियों को एक ईमेल लिखा और स्वीकार किया कि उन्होंने एक कर्मचारी के साथ संबंध बनाकर गलती की। साथ ही ईमेल में उन्होंने यह भी लिखा कि वे बोर्ड से सहमत हैं। इतना ही नहीं, ईस्टरब्रुक ने यह भी कहा कि केम्पकिन्स्की सीईओ के पद के लिए उपयुक्त हैं। निदेशक को भी केम्पकिन्स्की पर भरोसा है।

ईस्टरब्रुक के नेतृत्व में कंपनी को हुआ फायदा

ईस्टरब्रुक के नेतृत्व में कंपनी को काफी फायदा हुआ है। 2015 के बाद कंपनी के स्टॉक करीब दोगुने हुए हैं। हालांकि तीसरी तिमाही में निवेशक थोड़े नाराज थे। बता दें कि ईस्टरब्रुक ने युनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफर्ड के बिजनेस स्कूल से पढ़ाई की है और उनका पहले तलाक भी हो चुका है।

क्रिस केम्पकिन्स्की लेंगे जगह

बता दें कि ईस्टरब्रुक की जगह अब क्रिस केम्पकिन्स्की लेंगे। केम्पकिन्स्की साल 2015 से मैकडोनाल्ड के साथ जुड़े हैं। हाल ही में उन्होंने मैकडोनाल्ड यूएसए के अध्यक्ष के रूप में काम किया था।

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी फास्ट फूड चेन मैकडोनाल्ड्स (McDonald) के सीईओ स्टीव ईस्टपब्रुक (Steve Easterbrook) को अपनी एंप्लायी के साथ संबंध रखने को लेकर नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। स्टीव पर आरोप है कि उन्होंने एक कर्मचारी के साथ सहमति से रिश्ता रखा, जो कि कंपनी की नीतियों के खिलाफ है। कंपनी बोर्ड ने कहा कि ऐसा करके स्टीव ने अपने कमजोर फैसले का प्रदर्शन किया। स्टीव ने कंपनी के बोर्ड से भी इस्तीफा दे दिया है।       स्टीव ने कर्मचारियों से ईमेल में कहा, “यह एक गलती थी। कंपनी के मूल्यों को देखते हुए मैं बोर्ड के इस फैसले से सहमत हूं कि मुझे यहां से जाना चाहिए।” स्टीव के बाद मैक्डॉनल्ड्स में अमेरिका विंग के प्रेसिडेंट क्रिस केम्पजिंस्की उनकी जगह लेंगे। वहीं, कंपनी के लिए इंटरनेशनल ऑपरेशंस संभाल रहे जो अर्लिंगर को यूएस विंग की जिम्मेदारी दी गई है। 2015 में बने थे कंपनी के सीईओ इस संबंध में कंपनी ने कहा कि उन्होंने सही फैसला नहीं लिया है। बता दें कि स्टीव ईस्टरब्रुक साल 2015 में कंपनी के सीईओ बने थे। कंपनी के नियमों के मुताबिक, प्रबंधकों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष अधीनस्थों के साथ संबंध रखने की अनुमति नहीं है। ईस्टरब्रुक का कार्यकाल 1 मार्च 2015 से शुरू हुआ था। ईस्टरब्रुक ने कर्मचारियों को लिखा पत्र ईस्टरब्रुक ने कर्मचारियों को एक ईमेल लिखा और स्वीकार किया कि उन्होंने एक कर्मचारी के साथ संबंध बनाकर गलती की। साथ ही ईमेल में उन्होंने यह भी लिखा कि वे बोर्ड से सहमत हैं। इतना ही नहीं, ईस्टरब्रुक ने यह भी कहा कि केम्पकिन्स्की सीईओ के पद के लिए उपयुक्त हैं। निदेशक को भी केम्पकिन्स्की पर भरोसा है। ईस्टरब्रुक के नेतृत्व में कंपनी को हुआ फायदा ईस्टरब्रुक के नेतृत्व में कंपनी को काफी फायदा हुआ है। 2015 के बाद कंपनी के स्टॉक करीब दोगुने हुए हैं। हालांकि तीसरी तिमाही में निवेशक थोड़े नाराज थे। बता दें कि ईस्टरब्रुक ने युनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफर्ड के बिजनेस स्कूल से पढ़ाई की है और उनका पहले तलाक भी हो चुका है। क्रिस केम्पकिन्स्की लेंगे जगह बता दें कि ईस्टरब्रुक की जगह अब क्रिस केम्पकिन्स्की लेंगे। केम्पकिन्स्की साल 2015 से मैकडोनाल्ड के साथ जुड़े हैं। हाल ही में उन्होंने मैकडोनाल्ड यूएसए के अध्यक्ष के रूप में काम किया था।