मेरठ डबल मर्डर: थाना प्रभारी समेत पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, आरोपी पक्ष के दो लोग अरेस्ट

मेरठ डबल मर्डर: थाना प्रभारी समेत पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, आरोपी पक्ष के दो लोग अरेस्ट
मेरठ डबल मर्डर: थाना प्रभारी समेत पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, आरोपी पक्ष के दो लोग अरेस्ट

मेरठ। उत्तर प्रदेश में मेरठ में बीते एक दिन पहले हुए डबल मर्डर मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में 5 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षिक मंजिल सैनी दहल ने बताया, पीड़ित परिवार की सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया गया। इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में परतापुर थाना प्रभारी रघुराज सिंह, सब इन्सपेक्टर संजय सिंह, दिलशाद अहमद, कांस्टेबल अंकुश कुमार और थाने के पैरोकार कांस्टेबल पंकज कुमार को निलंबित कर दिया गया है। वहीं पुलिस ने आरोपी पक्ष के 2 लोगों को अरेस्ट कर लिया है। हालांकि, हमलावर अभी भी फरार हैं।

मामला मेरठ के परतापुर क्षेत्र के सोरखा गांव का है। बुधवार को निछत्तर कौर घर के बाहर एक अन्य महिला के साथ चारपाई पर बैठी हुई बात कर रही हैं। इसी दौरान पहले एक हमलावर हाथ में रिवॉल्वर लेकर आया और निछत्तर को एक के बाद एक गोली मार दी। फिर दूसरा आया और उसने भी गोली मार दी। इसके बाद तीसरे शख्स ने निछत्तर को निशाना बनाकर गोली शरीर में उतार दी। बदमाशों ने लौटते समय निछत्तर के बेटे बलविंदर को गांव के रास्ते में गोली से भून दिया। मां बेटे की हत्या कर हत्यारे फरार हो गए घटना के बाद गांव में हड़कंप मच गया।

{ यह भी पढ़ें:- साड़ के हमले से घायल युवक की मौत, पसरा मातम }

ये है पूरा मामला-

बता दें कि नरेन्द्र की अक्टूबर 2016 में जमीनी रंजिश के चलते हत्या कर दी गई थी। इस मामले में गांव के निवासी मृतक के भतीजों मालू उर्फ श्योबीर व उसके भाई मांगे सहित अन्य कुछ लोगों को नामजद कराते हुए मृतक के परिजनों ने मुकदमा दर्ज कराया था। मालू को पुलिस ने जेल भेज दिया, जबकि मांगे सहित अन्य कई आरोपी अब तक फरार हैं। बताया जाता है कि नरेन्द्र की हत्या के मामले में उसकी पत्नी निछत्तर कौर और पुत्र बलविंद्र उर्फ भोलू गवाह थे। गुरुवार को उनकी कोर्ट में गवाही होनी थी।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी इन्वेस्टर्स समिट: 3 साल में 10 हजार करोड़ का निवेश करेगा जियो }

Loading...