मेरठ: पुलिस का दावा, MBA छात्रा के साथ नहीं हुआ था अपहरण और गैंगरेप

i g praveen kumar
मेरठ पुलिस का दावा, MBA छात्रा के साथ नहीं हुआ था अपहरण और गैंगरेप

मेरठ: आईजी मेरठ प्रवीण कुमार ने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि एमबीए छात्रा के साथ अपहरण और गैंगरेप की घटना झूंठी थी, छात्रा बाईक से गिर गयी थी इसलिए उसे चोट आयी थी। आईजी ने बताया कि जांच के बाद यह गैंगरेप/रेप की घटना नहीं पाई गई है। अभी तक जो तथ्य सामने आए हैं उनके मुताबिक़ लड़की अपनी मर्जी से अपने बचपन के दोस्त के साथ मोटरसाइकिल से गई थी, इसी दौरान वह बाईक से गिरकर घायल हो गयी थी।

Meerut Police Claim Mba Student Was Not Kidnapped And Gang Raped :

आईजी के मुताबिक जब पीड़िता के परिजन पुलिस के पास शिकायत लेकर पहुंचे तो उन्होंने जानकारी दी कि उन्हें पता है कि लड़की कहां पर होगी। परिजन पुलिस को अपने साथ लेकर सीधे स्याना थाना क्षेत्र स्थित लड़के के आवास पर पहुंचे, जहां छात्रा को बरामद कर लिया गया। छात्रा उस दौरान घायल अवस्था में थी और लड़का वहां से फरार था। प्रवीण कुमार ने बताया कि लड़की का मेडिकल कराया गया, जिसमें रेप की पुष्टि नहीं हुई है। वहीं जिस घर से लड़की को बरामद किया गया है, वहां महिलाएं भी मौजूद थीं, जो लड़की का उपचार कर रही थीं। आईजी के मुताबिक लड़की का अस्पताल में इलाज चल रहा है, वो अब ठीक है. मामले की पूरी तफ्तीश की जा रही है।

आपको बता दें कि मेरठ पुलिस को जानकारी मिली थी कि गढ़ मुक्तेश्वर में घर जाते समय एमबीए की छात्रा का लिफ्ट देने के नाम पर अपहरण कर लिया गया उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया। जानकारी होते ही पुलिस हरकत में आयी और छापेमारी कर गंभीर हालत में छात्रा को बरमाद कर लिया था। पुलिस ने तुरंत छात्रा को मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया था। इसे लेकर हापुड़ में गैंगरेप का केस दर्ज किया गया था। जानकारी के अनुसार बताया गया था कि छात्रा गढ़ मुक्तेश्वर की रहने वाली है। 13 फरवरी को वो मेरठ से अपने घर लौट रही थी। इसी दौरान बस खराब हो गई, जिसके बाद लिफ्ट देने के बहाने कुछ छात्रों ने उसे अगवा कर लिया और स्याना क्षेत्र ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया। यह भी बताया गया था कि इस दौरान आरोपियों द्वारा छात्रा की जमकर पिटाई भी की गई।

मेरठ: आईजी मेरठ प्रवीण कुमार ने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि एमबीए छात्रा के साथ अपहरण और गैंगरेप की घटना झूंठी थी, छात्रा बाईक से गिर गयी थी इसलिए उसे चोट आयी थी। आईजी ने बताया कि जांच के बाद यह गैंगरेप/रेप की घटना नहीं पाई गई है। अभी तक जो तथ्य सामने आए हैं उनके मुताबिक़ लड़की अपनी मर्जी से अपने बचपन के दोस्त के साथ मोटरसाइकिल से गई थी, इसी दौरान वह बाईक से गिरकर घायल हो गयी थी। आईजी के मुताबिक जब पीड़िता के परिजन पुलिस के पास शिकायत लेकर पहुंचे तो उन्होंने जानकारी दी कि उन्हें पता है कि लड़की कहां पर होगी। परिजन पुलिस को अपने साथ लेकर सीधे स्याना थाना क्षेत्र स्थित लड़के के आवास पर पहुंचे, जहां छात्रा को बरामद कर लिया गया। छात्रा उस दौरान घायल अवस्था में थी और लड़का वहां से फरार था। प्रवीण कुमार ने बताया कि लड़की का मेडिकल कराया गया, जिसमें रेप की पुष्टि नहीं हुई है। वहीं जिस घर से लड़की को बरामद किया गया है, वहां महिलाएं भी मौजूद थीं, जो लड़की का उपचार कर रही थीं। आईजी के मुताबिक लड़की का अस्पताल में इलाज चल रहा है, वो अब ठीक है. मामले की पूरी तफ्तीश की जा रही है। आपको बता दें कि मेरठ पुलिस को जानकारी मिली थी कि गढ़ मुक्तेश्वर में घर जाते समय एमबीए की छात्रा का लिफ्ट देने के नाम पर अपहरण कर लिया गया उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया। जानकारी होते ही पुलिस हरकत में आयी और छापेमारी कर गंभीर हालत में छात्रा को बरमाद कर लिया था। पुलिस ने तुरंत छात्रा को मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया था। इसे लेकर हापुड़ में गैंगरेप का केस दर्ज किया गया था। जानकारी के अनुसार बताया गया था कि छात्रा गढ़ मुक्तेश्वर की रहने वाली है। 13 फरवरी को वो मेरठ से अपने घर लौट रही थी। इसी दौरान बस खराब हो गई, जिसके बाद लिफ्ट देने के बहाने कुछ छात्रों ने उसे अगवा कर लिया और स्याना क्षेत्र ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया। यह भी बताया गया था कि इस दौरान आरोपियों द्वारा छात्रा की जमकर पिटाई भी की गई।