1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मेरठ : योगी की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश, कूड़े का ढेर छिपाने के लिए सड़कों पर लगाया पर्दा

मेरठ : योगी की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश, कूड़े का ढेर छिपाने के लिए सड़कों पर लगाया पर्दा

यूपी के मेरठ जनपद में नगर निगम के अधिकारी तीन दिनों तक सीएम के रूट को चमकाने में लगे रहे। इसके तहत तेजगढ़ी चौराहे के पार्क पर अतिक्रमण को भी हटा दिया गया। तो वहीं हापुड़ रोड स्थित लोहियानगर में खड़े कूड़े के पहाड़ को छिपाने के लिए कनात की अस्थायी दीवार खड़ी कर दी गई।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Meerut Trying To Throw Dust In Yogis Eyes A Curtain Put On The Streets To Hide A Pile Of Garbage

मेरठ। यूपी के मेरठ जनपद में नगर निगम के अधिकारी तीन दिनों तक सीएम के रूट को चमकाने में लगे रहे। इसके तहत तेजगढ़ी चौराहे के पार्क पर अतिक्रमण को भी हटा दिया गया। तो वहीं हापुड़ रोड स्थित लोहियानगर में खड़े कूड़े के पहाड़ को छिपाने के लिए कनात की अस्थायी दीवार खड़ी कर दी गई।

पढ़ें :- एक्सपर्ट्स ने बताया भारत में कब आ सकती कोरोना की तीसरी लहर और क्या है तैयारी?

सड़कों पर नजर आए अफसर

कोरोना संक्रमण काल में बीमारी होने के नाम पर पिछले एक महीने से गायब चल रहे नगर निगम के कई अधिकारी और कर्मचारी सीएम के खौफ के कारण अचानक सड़कों पर और सक्रिय नजर आए।

सुरक्षा का घेरा बनाए रहे अधिकारी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा को देखते पुलिस-प्रशासन ने कड़े इंतजाम किए हुए थे। पुलिस लाइन स्थित हेलीपैड से लेकर सर्किट हाउस और कलेक्ट्रेट व बिजौली गांव तक पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था बनाई थी। एडीजी, आईजी, एसएसपी समेत पुलिस प्रशासन के अधिकारी दिनभर मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लगे रहे। कोरोना के चलते किसी को भी मुख्यमंत्री से मिलने नहीं दिया गया। मुख्यमंत्री के लौटने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

पढ़ें :- आगरा : आईजी नवीन अरोरा का 'ऑपरेशन प्रहार' बना अपराधियों का काल

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X