दिल्ली: बटला हाउस इलाके में बसपा नेता की गोली मारकर हत्या

delhi-murder-bsp-leader
दिल्ली: बटला हाउस इलाके में बसपा नेता की गोली मारकर हत्या

नई दिल्ली। दिल्ली के जामिया नगर के बटला हाउस इलाके में सोमवार शाम बदमाशों ने बसपा नेता की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान दिलशाद खान (35) के रूप में हुई। दिलशान पेशे से बिल्डर थे। वो मेरठ से जिला पंचायत सदस्य भी रह चुके थे। उन्होंने बीएसपी के टिकट पर चुनाव जीता था। बदमाशों ने दिलशान को चार गोलियां मारीं, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। पुलिस को वारदात के पीछे आपसी रंजिश की आशंका है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Meerut Zila Panchayat Member Killed By Goons In Batla House :

मृतक के परिजन के मुताबिक, रमजान के दौरान दिलशाद का गांव के ही लोगों से झगड़ा हुआ था। जिसके बाद दिलशाद के ऊपर 307 का मुकदमा दर्ज हुआ था और वह तिहाड़ जेल भी गया था। तिहाड़ में वह 28 दिन रहा और 10 दिन पहले ही जेल से छूटकर वापस आया था। पुलिस सभी एंगल से मामले की जांच कर रही है और यह भी जांच की जा रही है कि क्या कातिल वही लोग हैं जिनसे दिलशाद का झगड़ा हुआ था।

दिलशाद के परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। हालांकि जिस तरह से भीड़ भाड़ वाले बाजार में दिलशाद की हत्या की वारदात को बदमाशों ने बेखौफ होकर अंजाम दिया उस से राजधानी में कानून व्यवस्था पर तमाम सवाल जरूर खड़े हो गए हैं।

नई दिल्ली। दिल्ली के जामिया नगर के बटला हाउस इलाके में सोमवार शाम बदमाशों ने बसपा नेता की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान दिलशाद खान (35) के रूप में हुई। दिलशान पेशे से बिल्डर थे। वो मेरठ से जिला पंचायत सदस्य भी रह चुके थे। उन्होंने बीएसपी के टिकट पर चुनाव जीता था। बदमाशों ने दिलशान को चार गोलियां मारीं, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। पुलिस को वारदात के पीछे आपसी रंजिश की आशंका है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।मृतक के परिजन के मुताबिक, रमजान के दौरान दिलशाद का गांव के ही लोगों से झगड़ा हुआ था। जिसके बाद दिलशाद के ऊपर 307 का मुकदमा दर्ज हुआ था और वह तिहाड़ जेल भी गया था। तिहाड़ में वह 28 दिन रहा और 10 दिन पहले ही जेल से छूटकर वापस आया था। पुलिस सभी एंगल से मामले की जांच कर रही है और यह भी जांच की जा रही है कि क्या कातिल वही लोग हैं जिनसे दिलशाद का झगड़ा हुआ था।दिलशाद के परिवार में दो बेटे और एक बेटी हैं। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। हालांकि जिस तरह से भीड़ भाड़ वाले बाजार में दिलशाद की हत्या की वारदात को बदमाशों ने बेखौफ होकर अंजाम दिया उस से राजधानी में कानून व्यवस्था पर तमाम सवाल जरूर खड़े हो गए हैं।