1. हिन्दी समाचार
  2. मिलिए इस नटवरलाल से जो कभी CM तो कभी राज्यपाल बनकर करता था ठगी, IAS & IPS बनकर भी वसूले हैं रुपये

मिलिए इस नटवरलाल से जो कभी CM तो कभी राज्यपाल बनकर करता था ठगी, IAS & IPS बनकर भी वसूले हैं रुपये

Meet This Natwarlal Who Used To Cheat Once As A Former Cm And Sometimes As A Governor Ias Ips Have Also Recovered Money

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। यूपी एसटीएफ ने एक शातिर नटवरलाल को गिरफ्तार किया है। जो कभी मुख्यमंत्री, राज्यपाल, आईएएस और आईपीएस अफसर बनकर ठगी करता था। शातिर ठक को यूपी एसटीएफ ने जमशेदपुर से गिरफ्तार किया है, जिसका नाम रंजन कुमार मिश्रा है। लखनऊ में रंजन के खिलाफ फरवरी 2020 में सुशांत गोल्फ सिटी थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हुआ था।

पढ़ें :- श्मशान घाट में महिलाएं करती हैं लाशों का अंतिम संस्कार, चिता जलाकर पाल रहीं हैं परिवार का पेट

जालसाज ने यूपी राजकीय निर्माण निमग के प्रोजेक्ट मैनेजर को एक सीनियर अफसर बनकर आठ लाख रुपये मांगे थे। आरोपी की गिरफ्तारी के बाद खुलासा हुआ कि वह 2008 में वह खुद को झारखंड के तत्कालीन सीएम मधु कोड़ा बनकर बीजेपी नेता अर्जुन मुंडा से एक अकाउंट में 40 लाख रुपये ट्रांसफर करवा लिया था।

रंजन के खिलाफ यूपी, एमपी, झारखंड, बिहार, असम और गुजरात में धोखाधड़ी के कई मुकदमे दर्ज हैं और कुछ लोग तो ठगे जाने के बाद भी मजबूरी में मुकदमा नहीं लिखवा पाए। बता दें कि, साल 2018 में जेल जाने से पहले केरल के बिजली और पीडब्ल्यूडी विभाग के चार ठेकेदारों से 20 लाख रुपए सीतामढ़ी के राकेश कुमार के खाते में जमा करवा लिए थे।

इसी साल एमडी बनकर दिल्ली के बिजली ठेकेदार से 5 लाख रुपये एक खाते में जमा करवा लिए थे। फरवरी 2020 में रंजन ने खुद को मध्य प्रदेश का राज्यपाल बता कर वहां के 4 विधायकों से लाखों रुपए मांगे थे। इस मामले में एमपी के सागर जिले में एफआईआर दर्ज हुई थी। यही नहीं आरोपी आईएएस और आईपीएस बनकर भी लोगों से खूब रुपये ऐंठे हैं।

पढ़ें :- कोरोना संकट के कारण इस बार नहीं सजेंगे दुर्गा पूजा के पंडाल, सीएम ने कहा-घर में स्थापित करें मां की मूर्ति

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...