कश्मीर में घबराहट का माहौल, यहां क्या होने वाला है कोई नहीं बता रहा : महबूबा मुफ्ती

mabooba
कश्मीर में घबराहट का माहौल, यहां क्या होने वाला है कोई नहीं बता रहा : महबूबा मुफ्ती

जम्मू। जम्मू—कश्मीर में जारी हलचल के बीच पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के हालत पर चिंता जताते हुए कहा कि, यहां क्या होने वाला है कोई नहीं बता रहा है। मुफ्ती ने यह भी आरोप लगाया कि रविवार शाम एक होटल में सभी राजनीतिक दलों ने बैठक बुलाई थी, लेकिन पुलिस ने बुकिंग रद्द करा दी है। उधर, गृहमंत्री अमित शाह ने अजित डोभाल के साथ बैठक की है।

Mehbooba Mufti Attacked The Central Government :

इसके साथ ही सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने अचानक कैबिनेट की मीटिंग बुला ली है। ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में कई बड़े फैसले लिए जा सकते हैं। जम्मू-कश्मीर में बड़ी संख्या में अतिरिक्त अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती और एक के बाद एक एडवाइजरी जारी करने से वहां पर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इसके साथ ही धारा 35ए और अनुच्छेद 370 को हटाये जाने की अटकलें हैं।

वहीं, महबूबा मुफ्ती ने इसको लेकर सरकार को चेतावनी दी थी। महबूबा ने कहा, हमने इस देश के लोगों को समझाने का प्रयास किया था कि अगर 35A या 370 से छेड़छाड़ करेंगे तो इसके क्या परिणाम हो सकते हैं। हमने अपील भी की है, लेकिन केंद्र की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिला है।

वे ये भी नहीं कह रहे हैं कि सबकुछ ठीक हो जाएगा। इसके साथ ही जम्मू—कश्मीर में चल रही हचलच के बीच रविवार को राजनीतिक पार्टियों ने रविवार को होटल में बैठक करने का फैसला लिया था। लेकिन पुलिस की एडवाइजरी के कारण होटल में कोई बैठक नहीं कर सकता है।

जम्मू। जम्मू—कश्मीर में जारी हलचल के बीच पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के हालत पर चिंता जताते हुए कहा कि, यहां क्या होने वाला है कोई नहीं बता रहा है। मुफ्ती ने यह भी आरोप लगाया कि रविवार शाम एक होटल में सभी राजनीतिक दलों ने बैठक बुलाई थी, लेकिन पुलिस ने बुकिंग रद्द करा दी है। उधर, गृहमंत्री अमित शाह ने अजित डोभाल के साथ बैठक की है। इसके साथ ही सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने अचानक कैबिनेट की मीटिंग बुला ली है। ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में कई बड़े फैसले लिए जा सकते हैं। जम्मू-कश्मीर में बड़ी संख्या में अतिरिक्त अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती और एक के बाद एक एडवाइजरी जारी करने से वहां पर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इसके साथ ही धारा 35ए और अनुच्छेद 370 को हटाये जाने की अटकलें हैं। वहीं, महबूबा मुफ्ती ने इसको लेकर सरकार को चेतावनी दी थी। महबूबा ने कहा, हमने इस देश के लोगों को समझाने का प्रयास किया था कि अगर 35A या 370 से छेड़छाड़ करेंगे तो इसके क्या परिणाम हो सकते हैं। हमने अपील भी की है, लेकिन केंद्र की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिला है। वे ये भी नहीं कह रहे हैं कि सबकुछ ठीक हो जाएगा। इसके साथ ही जम्मू—कश्मीर में चल रही हचलच के बीच रविवार को राजनीतिक पार्टियों ने रविवार को होटल में बैठक करने का फैसला लिया था। लेकिन पुलिस की एडवाइजरी के कारण होटल में कोई बैठक नहीं कर सकता है।