मोदी सरकार पर महबूबा मुफ्ती ने कसा तंज, ‘पुलवामा पर सर्जिकल स्ट्राइक, चीन पर आत्मसमर्पण?’

mufti

श्रीनगर: भारत और चीन के बीच लद्दाख में जारी गतिरोध को लेकर मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। कांग्रेस के राहुल गांधी, रणदीप सुरजेवाला और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के विरोधी स्वरों से सुर मिलाते हुए मंगलवार को पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी केंद्र सरकार पर हमला बोला है।

Mehbooba Mufti Lashed Out At Modi Government Surgical Strike On Pulwama Surrender To China :

महबूबा मुफ्ती के ट्विटर हैंडल से मंगलवार को केंद्र सरकार पर आरोप लगाया गया कि भारत-चीन सीमा पर स्थिति गंभीर है लेकिन भारत सरकार इस पर बात करने से कतरा रही है। मुफ्ती के ट्विटर से उनकी बेटी इल्तिजा ने ट्वीट किया, ‘जब पुलवामा में हमला हुआ, तब भारत सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक के रूप में जवाबी कार्रवाई की। उधर चीन सीमा पर मौजूदा यथास्थिति को बदलने पर उतारू है लेकिन इस पर जानबूझकर कोई बात ही नहीं की जा रही है।’

मोदी सरकार पर निशाना
मुफ्ती ने ‘एलिफैंट (ड्रैगन) इन द रूम’ मुहावरे का इस्तेमाल करते हुए केंद्र सरकार के इस मामले पर चुप्पी साधने पर निशाना साधा है। मुफ्ती ने आगे पूछा कि क्या यह खुशामदी तौर पर आत्मसमर्पण है। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने भी ट्विटर पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधा था। राहुल गांधी ने शायरी के अंदाज में कहा था, ‘सब को मालूम है ‘सीमा’ की हक़ीक़त लेकिन, दिल के ख़ुश रखने को, ‘शाह-यद’ ये ख़्याल अच्छा है।’

शाह के बयान पर निशाना
राहुल ने गृहमंत्री अमित शाह के उस बयान पर निशाना साधते हुए यह बात कही थी जिसमें शाह ने कहा था कि इजराइल और अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा ऐसा देश है जो अपनी सीमा की सुरक्षा करने में सक्षम है। गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच पिछले महीने गतिरोध की शुरुआत हुई थी। पूर्वी लद्दाख में 5 और 6 मई को दोनों देशों के करीब 250 सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। 9 मई को उत्तरी सिक्किम में भी इसी तरह की घटना हुई थी। चीन के सैनिकों ने लद्दाख में कई पॉइंट्स पर आक्रामक रुख अपनाया जिसका जवाब भारत को देना पड़ा।

जम्मू-कश्मीर: शोपियां में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया

श्रीनगर: भारत और चीन के बीच लद्दाख में जारी गतिरोध को लेकर मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। कांग्रेस के राहुल गांधी, रणदीप सुरजेवाला और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के विरोधी स्वरों से सुर मिलाते हुए मंगलवार को पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी केंद्र सरकार पर हमला बोला है। महबूबा मुफ्ती के ट्विटर हैंडल से मंगलवार को केंद्र सरकार पर आरोप लगाया गया कि भारत-चीन सीमा पर स्थिति गंभीर है लेकिन भारत सरकार इस पर बात करने से कतरा रही है। मुफ्ती के ट्विटर से उनकी बेटी इल्तिजा ने ट्वीट किया, 'जब पुलवामा में हमला हुआ, तब भारत सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक के रूप में जवाबी कार्रवाई की। उधर चीन सीमा पर मौजूदा यथास्थिति को बदलने पर उतारू है लेकिन इस पर जानबूझकर कोई बात ही नहीं की जा रही है।' मोदी सरकार पर निशाना मुफ्ती ने 'एलिफैंट (ड्रैगन) इन द रूम' मुहावरे का इस्तेमाल करते हुए केंद्र सरकार के इस मामले पर चुप्पी साधने पर निशाना साधा है। मुफ्ती ने आगे पूछा कि क्या यह खुशामदी तौर पर आत्मसमर्पण है। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने भी ट्विटर पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधा था। राहुल गांधी ने शायरी के अंदाज में कहा था, 'सब को मालूम है ‘सीमा’ की हक़ीक़त लेकिन, दिल के ख़ुश रखने को, ‘शाह-यद’ ये ख़्याल अच्छा है।' शाह के बयान पर निशाना राहुल ने गृहमंत्री अमित शाह के उस बयान पर निशाना साधते हुए यह बात कही थी जिसमें शाह ने कहा था कि इजराइल और अमेरिका के बाद भारत दुनिया का तीसरा ऐसा देश है जो अपनी सीमा की सुरक्षा करने में सक्षम है। गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच पिछले महीने गतिरोध की शुरुआत हुई थी। पूर्वी लद्दाख में 5 और 6 मई को दोनों देशों के करीब 250 सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। 9 मई को उत्तरी सिक्किम में भी इसी तरह की घटना हुई थी। चीन के सैनिकों ने लद्दाख में कई पॉइंट्स पर आक्रामक रुख अपनाया जिसका जवाब भारत को देना पड़ा। जम्मू-कश्मीर: शोपियां में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया