सेना प्रमुख से मिलीं महबूबा मुफ़्ती, कहा- डंडे से कुछ नहीं निकलेगा, इसे दोहराया नहीं जाना चाहिए

जम्मू| जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत से दिल्ली में मुलाक़ात की| इस दौरान उन्होंने कश्मीर में सेना की जीप से बांधकर कश्मीर के युवा के साथ ज्यादती करने वाले जवानों और अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की|




खबरों के मुताबिक महबूबा मुफ्ती ने बिपिन रावत से कहा कि सेना के कुछ जवानों की हरकत घाटी में अमन की सालों की कोशिशों पर पानी फेर रही है| दोषी जवानों और अफसरों के खिलाफ फौरन कार्रवाई की जरूरत पर जोर देते हुए महबूबा ने कहा कि ज्यादती की खबरों के नतीजे सिर्फ राज्य को नहीं भुगतने पड़ रहे बल्कि इनसे राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी देश की छवि पर असर पड़ रहा है|

महबूबा का कहना था कि एक नौजवान को सेना की जीप से बांधकर घुमाने का वीडियो सामने आने के बाद कश्मीर के लोगों में गुस्सा है| उन्होंने उम्मीद जताई कि सेना इससे हुए नुकसान की भरपाई जल्द ही करेगी| मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महबूबा ने कहा, “डंडे से कुछ नहीं निकलेगा| अब तक जो हुआ सो हुआ| अब इसे दोहराया नहीं जाना चाहिए|”




महबूबा ने सेना प्रमुख से यह मुलाकात कश्मीर में सेना के एक वाहन के आगे एक कश्मीरी युवक को बांधकर पत्थरबाजों के खिलाफ ढाल के रूप में इस्तेमाल करने वाला वीडियो वायरल होने और बीते रविवार को श्रीनगर संसदीय सीट पर उप-चुनाव के लिए हुए मतदान के दौरान घाटी में फिर से भड़की हिंसा के बाद की है|