PNB घोटाले के मास्‍टरमाइंड मेहुल चोकसी को एंटीगुआ से लाने की कोशिश तेज

mehul
PNB घोटाले के मास्‍टरमाइंड मेहुल चोकसी को एंटीगुआ से लाने की कोशिश तेज

नई दिल्ली। भारतीय बैंकों को अरबों रुपये का चूना लगा कर विदेश फरार उद्योगपति मेहुल चोकसी को एंटीगुआ से लाने की कोशिशें सरकार ने तेज कर दी है। भारत सरकार ने एंटीगुआ और बारबुडा की सरकार से अपील की है कि वह भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को हिरासत में ले लें और जमीन, वायु और सड़क मार्ग से उसके यात्रा करने पर प्रतिबंध लगा दें।

ये अपील भारत सरकार ने एंटीगुआ और बारबुडा के विदेश मंत्री ई पी चेट ग्रीन की सफाई के बाद की है। अंतर मंत्रालयी समिति ने कानून को सख्त करने के साथ ही ऐसे लोगों की नागरिकता रद्द करने का भी सुझाव दिया है। समिति ने अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंप दी है। इस बारे में और बात करने के लिए भारतीय अधिकारियों की एंटीगुआ सरकार के अधिकारियों से आज बैठक भी हो रही है। साथ ही भारत सरकार की अन्य जांच एजेंसियां जो मेहुल चोकसी के पीछे पड़ी हुई हैं वे भी इस बारे में आवश्यक प्रस्ताव भेजने जा रही है।

{ यह भी पढ़ें:- कोर्ट ने नीरव मोदी व परिवार को दिया नोटिस, 25 सितंबर को होना है पेश }

बता दें कि मेहुुल चोकसी 2000 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले का सह आरोपी है। हाल ही में ऐसी खबरें आईं थीं जिनके मुताबिक उसने एंटीगुआ का पासपोर्ट और वहां की नागरिकता हासिल कर ली थी। ये नागरिकता उसने सिटीजनशिप फॉर इन्वेस्टमेंट कार्यक्रम के तहत ली थी। इस देश में कोई भी शख्स सिर्फ 1.3 करोड़ रुपये देकर नागरिकता पा सकता है।

{ यह भी पढ़ें:- एंटीगुआ में ही है मेहुल चोकसी, CBI जल्द शुरू करेगी प्रत्यर्पण की प्रक्रिया }

नई दिल्ली। भारतीय बैंकों को अरबों रुपये का चूना लगा कर विदेश फरार उद्योगपति मेहुल चोकसी को एंटीगुआ से लाने की कोशिशें सरकार ने तेज कर दी है। भारत सरकार ने एंटीगुआ और बारबुडा की सरकार से अपील की है कि वह भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को हिरासत में ले लें और जमीन, वायु और सड़क मार्ग से उसके यात्रा करने पर प्रतिबंध लगा दें। ये अपील भारत सरकार ने एंटीगुआ और बारबुडा के विदेश मंत्री ई पी चेट…
Loading...