मेहुल चौकसी ने कंपनी कर्मचारियों को लिखी चिट्ठी, बैंक धोखाधड़ी के आरोप बताए झूठे

मेहुल चौकसी
मेहुल चौकसी ने कंपनी कर्मचारियों को लिखी चिट्ठी, बैंक धोखाधड़ी के आरोप बताए झूठे

Mehul Choksi Writes To Workers

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक फ्राड में नीरव मोदी के साथ सह अभियुक्त बनाए गए हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी ने अपने कर्मचारियों के नाम शुक्रवार को एक चिट्ठी जारी की है। जिसमें उन्होंने खुद पर लगे बैंक धोखाधड़ी के आरोपों को निराधार करार देते हुए अपने कर्मचारियों से बुरे समय मे सहयोग की अपेक्षा की है।

मेहुल चौकसी ने लिखा है कि 4800 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी का मामला बैंक के अधिकारियों, जांच एजेंसियों और मीडिया के द्वारा जबरन उन पर थोपा गया है।एक ऐसा माहौल तैयार किया जा रहा है जिससे उनकी कंपनी से जुड़े लोगों पर मानसिक प्रभाव पड़ रहा है।

उन्होंने लिखा है कि वर्तमान परिस्थितियों में वह कर्मचारियों के लंबित वेतन व अन्य देनदारियों को पूरा करने में असम​र्थ हैं। उनकी कंपनी के तमाम खाते और संपत्तियां सीज की जा चुकीं हैं। परिस्थितियां ऐसी नहीं है, जिनमें कंपनी ​अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर सके।

उन्हें पूरी उम्मीद है कि ये आरोप आने वाले समय में निराधार साबित होंगे। जिसके बाद उनकी कंपनी अपने कर्मचारियों के ​प्रति देनदारियों को चुका पाएगी। लेकिन यह स​ब कहने जितना आसान नहीं होगा क्योंकि इसके लिए एक लंबी कानूनी लड़ाई की जरूरत होगी।

उन्होंने अपने कर्मचारियों को भरोसा दिलाते हुए कहा है कि एक बार कानूनी लड़ाई जीतने के बाद सभी के भुगतान करेंगे और संभव हुआ तो एक बार फिर उन लोगों के साथ काम करेंगे।लेकिन यह सब आने वाले समय पर निर्भर है। तब तक कर्मचारियों को उन पर भरोसा रखना होगा।

आपको बता दें कि मेहुल चौकसी डायमंड ज्वैलरी ब्रांड गीतांजली के मालिक हैं और 11400 करोड़ के पीएनबी बैंक फ्राड मामले में हीरा कारोबारी नीरव मोदी के साथ सह अभियुक्त हैं। मेहुल चौकसी की कंपनियों पर 4800 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी के आरोप हैं। फिलहाल वह भूमिगत हैं और जांच एजेंसियों ने उनकी कंपनी की तमाम संपत्तियों और बैंक खातों को सीज कर रखा है।

बताया जा रहा है कि जल्द ही नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और बैंक फ्राड में उनके अन्य सहयोगी जो कि विदेशों में ​छुपे बैठे हैं, को भारत लाने के लिए भारतीय एजेंसियां सक्रिय होंगी। नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की कंपनियां भारत के अलावा करीब आधा दर्जन देशों में कारोबार करतीं हैं। लगभग सभी देशों से भारत सरकार की प्रत्यार्पण संधि है। आने वाले समय में भारतीय एजेंसियां अदालत से अनुमति मिलने के बाद इन लोगों को भारत लाने की कोशिशों को तेज करने वालीं हैं।

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक फ्राड में नीरव मोदी के साथ सह अभियुक्त बनाए गए हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी ने अपने कर्मचारियों के नाम शुक्रवार को एक चिट्ठी जारी की है। जिसमें उन्होंने खुद पर लगे बैंक धोखाधड़ी के आरोपों को निराधार करार देते हुए अपने कर्मचारियों से बुरे समय मे सहयोग की अपेक्षा की है। मेहुल चौकसी ने लिखा है कि 4800 करोड़ की बैंक धोखाधड़ी का मामला बैंक के अधिकारियों, जांच एजेंसियों और मीडिया के द्वारा…