1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. मानसिक स्वास्थ्य युक्तियाँ: जानिए अपने बच्चे के लिए कैसे बनाएं एक आदर्श दिनचर्या

मानसिक स्वास्थ्य युक्तियाँ: जानिए अपने बच्चे के लिए कैसे बनाएं एक आदर्श दिनचर्या

बच्चों सहित अधिकांश के लिए महामारी का समय तनावपूर्ण है। पूर्व-कोविड समय में, उनके पास खेलना, स्कूल जाना, गतिविधि कक्षाएं और थोड़ा सा स्क्रीन समय जैसे तत्वों के साथ एक निर्धारित दिनचर्या थी। एक संरचित दिन के अभाव में, बच्चों को कई भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक मुद्दों का सामना करना पड़ सकता है।

By प्रीति कुमारी 
Updated Date

बच्चों के समग्र विकास में सहायता के लिए एक सार्थक दिनचर्या बनाना महत्वपूर्ण है। बच्चों के लिए एक दिनचर्या बनाने और उनके तनाव को कम करने के लिए सुझाव  है।

पढ़ें :- कुछ आदतो में सुधार कर रख सकते है किडनी का ध्यान, जानिये क्या है आदते

1. अपने बच्चे को एक दिनचर्या बनाने में मदद करें:
किसी भी दिनचर्या के अभाव में, आपके बच्चों को अनिश्चितता और भ्रम का सामना करना पड़ सकता है जो उनके जीवन में एक बड़ा शून्य पैदा कर सकता है। उनके वातावरण में सभी नकारात्मक बातें और किसी भी सार्थक गतिविधि की कमी उनके मानसिक स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकती है। उन्हें समय प्रबंधन और दिनचर्या का महत्व सिखाना महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे जागरूकता पैदा होगी कि उनसे क्या उम्मीद की जाती है। यह उनके तनाव को कम करने और उनके आत्मविश्वास के स्तर को बढ़ाने में भी मदद करेगा।

2. स्वयं एक दिनचर्या का पालन करें:
कई वयस्क अपने स्वयं के जीवन का प्रबंधन करने में सक्षम नहीं हैं और एक असंरचित दिन के साथ संघर्ष कर रहे हैं। इसका बच्चों पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है क्योंकि वे अपने बड़ों को देखकर सीखने की प्रवृत्ति रखते हैं। यदि आप चाहते हैं कि आपका बच्चा एक शासन का पालन करे, तो यह आवश्यक है कि आप भी उसका पालन करें, क्योंकि यह बच्चों पर सकारात्मक प्रभाव डालता है।

3. आकर्षक प्लानर बनाएं:
बच्चों को रंग-बिरंगी चीजें और उनसे जुड़ी चीजें पसंद आती हैं। कागज के टुकड़े पर योजना बनाने से काम नहीं चलेगा। इसे रोचक बनाना जरूरी है। कोहली कहते हैं, इसलिए, माता-पिता को बच्चे के लिए एक दृश्य योजनाकार बनाना चाहिए जो आसानी से सुलभ हो और बच्चे के लिए पठनीय हो।

4. बच्चे को अपनी पसंद की गतिविधियों की योजना बनाने के लिए प्रोत्साहित करें:
अपने बच्चों से यह पूछना महत्वपूर्ण है कि उन्हें क्या करना पसंद है और उनके साथ बातचीत करें। अपनी दिनचर्या में अपनी पसंद की गतिविधियों को शामिल करने से इस तनावपूर्ण समय में उनके जीवन में खुशी और खुशी का संचार होगा। उनके लिए घर पर शिक्षा को दिलचस्प बनाने का विचार है।

पढ़ें :- Bhindi Water : भिंडी का पानी है चमत्कारी, इस तरह करेंगे सेवन तो रहेंगे निरोगी

5. अपने दिन में दिलचस्प गतिविधियों को शामिल करें:
कोहली कहते हैं, बच्चे की दिनचर्या में कुछ मनोरंजक गतिविधियों जैसे खेलना, या अन्य शौक जैसे कि बागवानी या नृत्य करना शामिल है, जो आपके बच्चे को पूरे दिन प्रेरित महसूस कराएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...