मेरठ हिंसा में पूर्व बसपा विधायक योगेश वर्मा गिरफ्तार, NSA लगाने की तैयारी

SSP Meruth, Meruth Violence
मेरठ हिंसा में पूर्व बसपा विधायक योगेश वर्मा गिरफ्तार, NSA लगाने की तैयारी

लखनऊ। एससी एसटी एक्ट को लेकर बुलाए गए देशव्यापी बंद के दौरान उत्तर प्रदेश के मेरठ में विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा पर मेरठ प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। मेरठ की एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया है कि पुलिस ने बसपा के पूर्व विधायक योगेश शर्मा और उनके कुछ समर्थकों को हिरासत में लिया। विरोध प्रदर्शन के दौरान जिस तरह की हिंसा और आगजनी की घटनाएं सामने आईं हैं, उसके मुख्य सूत्रधार के रूप में योगेश वर्मा का नाम सामने आया है। वह ही प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे। सूत्रों की माने तो योगेश वर्मा के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA- National Security Act) के अंतर्गत कर्रवाई किए जाने की तैयारी हो रही हैं।

Meruth Police Detains Ex Bsp Mla Yogesh Verma In Violence During Protest For Sc St Act :

सोमवार को मेरठ के कंकरखेड़ा इलाके के अंबेडकर मार्ग पर योगेश वर्मा के नेतृत्व में एससी एसटी एक्ट में हुए बदलाव के विरोध में प्रदर्शन चल रहा था। प्रदर्शन के दौरान कुछ लोगों ने सार्वजनिक संपत्तियों को क्षतिग्रस्त करना शुरू कर दिया तो प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर फ्लैगमार्च निकाल कर प्रदर्शन को नियंत्रित करने की कोशिश की। पुलिस के फ्लैग मार्च पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया। मौके पर मौजूद जिलाधिकारी और एसएसपी के वाहन पथराव की चपेट में आ गए। जिसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज कर हिंसक प्रदर्शनकारियों को खदेड़ना पड़ा। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने पास में मौजूद एक पुलिस को भी आग के हवाले कर दिया। इस पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झडप में कुछ पुलिसकर्मियों को भी गंभीर चोटें आईं हैं।

प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के लिए मेरठ पुलिस ने भीड़ का नेतृत्व कर रहे बसपा विधायक को हिंसा के सूत्रधार के रूप में गिरफ्तार किया है। पुलिस पर पथराव करने, सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने और आगजनी करने के लिए प्रशासन उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है।

लखनऊ। एससी एसटी एक्ट को लेकर बुलाए गए देशव्यापी बंद के दौरान उत्तर प्रदेश के मेरठ में विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा पर मेरठ प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। मेरठ की एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया है कि पुलिस ने बसपा के पूर्व विधायक योगेश शर्मा और उनके कुछ समर्थकों को हिरासत में लिया। विरोध प्रदर्शन के दौरान जिस तरह की हिंसा और आगजनी की घटनाएं सामने आईं हैं, उसके मुख्य सूत्रधार के रूप में योगेश वर्मा का नाम सामने आया है। वह ही प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे थे। सूत्रों की माने तो योगेश वर्मा के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA- National Security Act) के अंतर्गत कर्रवाई किए जाने की तैयारी हो रही हैं।सोमवार को मेरठ के कंकरखेड़ा इलाके के अंबेडकर मार्ग पर योगेश वर्मा के नेतृत्व में एससी एसटी एक्ट में हुए बदलाव के विरोध में प्रदर्शन चल रहा था। प्रदर्शन के दौरान कुछ लोगों ने सार्वजनिक संपत्तियों को क्षतिग्रस्त करना शुरू कर दिया तो प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर फ्लैगमार्च निकाल कर प्रदर्शन को नियंत्रित करने की कोशिश की। पुलिस के फ्लैग मार्च पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव कर दिया। मौके पर मौजूद जिलाधिकारी और एसएसपी के वाहन पथराव की चपेट में आ गए। जिसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज कर हिंसक प्रदर्शनकारियों को खदेड़ना पड़ा। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों ने पास में मौजूद एक पुलिस को भी आग के हवाले कर दिया। इस पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झडप में कुछ पुलिसकर्मियों को भी गंभीर चोटें आईं हैं।प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के लिए मेरठ पुलिस ने भीड़ का नेतृत्व कर रहे बसपा विधायक को हिंसा के सूत्रधार के रूप में गिरफ्तार किया है। पुलिस पर पथराव करने, सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने और आगजनी करने के लिए प्रशासन उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है।