MeToo: नाना पाटेकर को बड़ी राहत, तनुश्री केस में पुलिस ने दी क्लीनचिट

nana
MeToo: नाना पाटेकर को बड़ी राहत, तनुश्री केस में पुलिस ने दी क्लीनचिट

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने मी टू आंदोलन की शुरुआत करते हुए नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। अब नाना के इस मामले में राहत मिल गई है। दरअसल बी रिपोर्ट पुलिस तब फाइल करती है जब पुलिस को शिकायत के खिलाफ एक भी सबूत नहीं मिलता है। ऐसे में बिना सबूत के इस जांच को कैसे आगे बढ़ाया जाए। मुंबई पुलिस की इस कार्रवाई से तनुश्री दत्‍ता को जरूर झटका लगा है।

Metoo Case Nana Patekar Clean Chit From Mumbai Police Tanushree Dutta Harassment Case :

सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने इस केस में अपनी जांच पूरी कर ली है जिसमें कहा गया है कि नाना के ऊपर प्रथम दृष्टया कोई मामला नहीं बनता है और तनुश्री के आरोपों के संबंध में नाना के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत सामने नहीं मिले हैं। हालांकि तनुश्री के वकील नितिन सतपुते ने चैनल से कहा है कि उन्हें अभी तक पुलिस से कोई ऑफिशल जानकारी नहीं मिली है और वह इस क्लोजर रिपोर्ट का कोर्ट में विरोध करेंगे।

बता दें कि पिछले साल तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर साल 2009 में फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज’ के एक गाने की शूटिंग के दौरान गलत तरीके से व्यवहार करने का आरोप लगाया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि नाना गाने में जानबूझकर इंटिमेट स्टेप्स डलवाना चाहते थे। इसके बाद तनुश्री ने इस गाने की शूटिंग करने से इनकार कर दिया था और इसके बाद इस गाने को राखी सावंत पर शूट किया गया था।

तनुश्री दत्ता के इन आरोपों के बाद अन्य कई महिलाओं ने बॉलिवुड के कई ऐक्टर्स, डायरेक्टर और प्रड्यूसर्स पर कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किए जाने के आरोप लगाए थे। इन लोगों में आलोक नाथ, साजिद खान, विकास बहल, सुभाष घई जैसी सिलेब्रिटीज शामिल थे।

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने मी टू आंदोलन की शुरुआत करते हुए नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। अब नाना के इस मामले में राहत मिल गई है। दरअसल बी रिपोर्ट पुलिस तब फाइल करती है जब पुलिस को शिकायत के खिलाफ एक भी सबूत नहीं मिलता है। ऐसे में बिना सबूत के इस जांच को कैसे आगे बढ़ाया जाए। मुंबई पुलिस की इस कार्रवाई से तनुश्री दत्‍ता को जरूर झटका लगा है। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने इस केस में अपनी जांच पूरी कर ली है जिसमें कहा गया है कि नाना के ऊपर प्रथम दृष्टया कोई मामला नहीं बनता है और तनुश्री के आरोपों के संबंध में नाना के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत सामने नहीं मिले हैं। हालांकि तनुश्री के वकील नितिन सतपुते ने चैनल से कहा है कि उन्हें अभी तक पुलिस से कोई ऑफिशल जानकारी नहीं मिली है और वह इस क्लोजर रिपोर्ट का कोर्ट में विरोध करेंगे। बता दें कि पिछले साल तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर साल 2009 में फिल्म 'हॉर्न ओके प्लीज' के एक गाने की शूटिंग के दौरान गलत तरीके से व्यवहार करने का आरोप लगाया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि नाना गाने में जानबूझकर इंटिमेट स्टेप्स डलवाना चाहते थे। इसके बाद तनुश्री ने इस गाने की शूटिंग करने से इनकार कर दिया था और इसके बाद इस गाने को राखी सावंत पर शूट किया गया था। तनुश्री दत्ता के इन आरोपों के बाद अन्य कई महिलाओं ने बॉलिवुड के कई ऐक्टर्स, डायरेक्टर और प्रड्यूसर्स पर कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किए जाने के आरोप लगाए थे। इन लोगों में आलोक नाथ, साजिद खान, विकास बहल, सुभाष घई जैसी सिलेब्रिटीज शामिल थे।