खनन घोटाला : ईडी के पास पहुंचा गायत्री प्रजापति की बेनामी संपत्तियों का ब्योरा, बढ़ेंगी मुश्किलें

gayatri prjapati
खनन घोटाला : ईडी के पास पहुंचा गायत्री प्रजापति की बेनामी संपत्तियों का ब्योरा, बढ़ेंगी मुश्किले

लखनऊ। खनन घोटाले में फंसे पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें बढ़ती ही जा रहीं हैं। गायत्री से पूछताछ के बाद ईडी खनन घोटाले से जुड़े सुबूत जुटा रही है। इसी बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को एक शिकायतकर्ता ने 1717 पेज के दस्तावेज सौंपे हैं। इसमें दावा किया है कि गायत्री प्रजापति की इसमें 14 हजार करोड़ रुपये से अधिक की बेनामी संपत्ति का ब्योरा है। ईडी शिकायतकर्ता के दस्तावेज के आधार पर आगे की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

Mining Scam Ed Now Has Full List Of Gayatri Prajapati Black Income And Money :

सूत्रों की माने तो शिकायतकर्ता के दिए गए दस्तावेज में गायत्री की बेनामी संपत्तियों के खिलाफ कई ठोस सुबूत हैं, जिसके आधार पर जल्द ही गायत्री प्रजापति पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक, कृष्ण कुमार सिंह की ओर से ईडी को दस्तावेज उपलब्ध कराए गये हैं। दस्तावेज में कहा गया है कि, 194 लोगों के नाम से गायत्री प्रजापति ने संपत्ति अर्जित की है।

शिकायतकर्ता का दावा है कि गायत्री ने 17 अलग-अलग कंपनियां बनाकर उसमें अवैध खनन से हुई काली कमाई का निवेश किया। सभी कंपनियां गायत्री के रिश्तेदारों और उनके करीबियों के नाम पर हैं। सूत्र बतातें हैं कि गायत्री के बेनामी संपत्तियों की जानकारी ईडी को पहले भी दस्तावेज के माध्यम से मिली थी, जिसकी जांच भी चल रही है।

वहीं, केजीएमयू में गायत्री प्रजापति से तीसरे दिन भी पूछताछ जारी है। सूत्रों बतातें हैं कि गायत्री पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं और बीमारी की आड़ में पूछताछ से बचने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं इसको लेकर ईडी ने केजीएमयू के डॉक्टरों से पूरा हेल्थ रिपोर्ट कार्ड और इलाज का ब्योरा मांगा है।

लखनऊ। खनन घोटाले में फंसे पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें बढ़ती ही जा रहीं हैं। गायत्री से पूछताछ के बाद ईडी खनन घोटाले से जुड़े सुबूत जुटा रही है। इसी बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को एक शिकायतकर्ता ने 1717 पेज के दस्तावेज सौंपे हैं। इसमें दावा किया है कि गायत्री प्रजापति की इसमें 14 हजार करोड़ रुपये से अधिक की बेनामी संपत्ति का ब्योरा है। ईडी शिकायतकर्ता के दस्तावेज के आधार पर आगे की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। सूत्रों की माने तो शिकायतकर्ता के दिए गए दस्तावेज में गायत्री की बेनामी संपत्तियों के खिलाफ कई ठोस सुबूत हैं, जिसके आधार पर जल्द ही गायत्री प्रजापति पर बड़ी कार्रवाई हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक, कृष्ण कुमार सिंह की ओर से ईडी को दस्तावेज उपलब्ध कराए गये हैं। दस्तावेज में कहा गया है कि, 194 लोगों के नाम से गायत्री प्रजापति ने संपत्ति अर्जित की है। शिकायतकर्ता का दावा है कि गायत्री ने 17 अलग-अलग कंपनियां बनाकर उसमें अवैध खनन से हुई काली कमाई का निवेश किया। सभी कंपनियां गायत्री के रिश्तेदारों और उनके करीबियों के नाम पर हैं। सूत्र बतातें हैं कि गायत्री के बेनामी संपत्तियों की जानकारी ईडी को पहले भी दस्तावेज के माध्यम से मिली थी, जिसकी जांच भी चल रही है। वहीं, केजीएमयू में गायत्री प्रजापति से तीसरे दिन भी पूछताछ जारी है। सूत्रों बतातें हैं कि गायत्री पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं और बीमारी की आड़ में पूछताछ से बचने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं इसको लेकर ईडी ने केजीएमयू के डॉक्टरों से पूरा हेल्थ रिपोर्ट कार्ड और इलाज का ब्योरा मांगा है।