गणतंत्र दिवस पर अपना भाषण नहीं पढ़ पाईं मंत्री, DM से पढ़वाया

imareti devi
गणतंत्र दिवस पर भाषण नहीं पढ़ पाईं मंत्री इमरती देवी, डीएम से पढ़वाया

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान मध्य प्रदेश की सरकार में मंत्री इमरती देवी अपना भाषण नहीं पढ़ पाईं। बाद में उन्होंने पास में खड़े जिले के कलेक्टर को बुलाया और उन्हें ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया। इमरती देवी कमलनाथ सरकार में महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री हैं। इस मामले में मंत्री की तरफ से सफाई भी सामने आई है।

Minister Imarti Devi Was Not Able To Read Chief Ministers Letter In Public :

इमरती देवी ग्वालियर जिला मुख्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लेने पहुंची थीं। कार्यक्रम के दौरान उन्हें वहां मौजूद लोगों को संबोधित करना था। हालांकि जैसे ही वह पोडियम पर भाषण पढ़ने आईं, वह उसे पढ़ने में अटकने लगीं। पास ही खड़े कलेक्टर ने उनकी मदद करनी चाही, जिसके बाद मंत्री ने कलेक्टर को ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया और खुद नीचे उतर गईं।

बता दें महिला एवं बाल विकास मंत्री 26 जनवरी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए एसएफ ग्राउंड पहुंची थीं। वह यहां मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुई थीं, ऐसे में मुख्यमंत्री का संदेश पत्र उन्हें ही पढ़ना था, लेकिन जैसे ही उन्होंने संदेश पढ़ना शुरू किया वह असहज हो गईं और संदेश नहीं पढ़ पाईं। बता दें इमरती देवी डबरा सीट से विधायक हैं और वर्तमान में प्रदेश की महिला एवं बाल-विकास मंत्री हैं। वह कांग्रेस महासचिव सिंधिया की खास मानी जाती हैं। बता दें सिंधिया के मुख्यमंत्री बनने की मांग प्रदेश में इमरती देवी ने ही उठाई थी।

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान मध्य प्रदेश की सरकार में मंत्री इमरती देवी अपना भाषण नहीं पढ़ पाईं। बाद में उन्होंने पास में खड़े जिले के कलेक्टर को बुलाया और उन्हें ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया। इमरती देवी कमलनाथ सरकार में महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री हैं। इस मामले में मंत्री की तरफ से सफाई भी सामने आई है।इमरती देवी ग्वालियर जिला मुख्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लेने पहुंची थीं। कार्यक्रम के दौरान उन्हें वहां मौजूद लोगों को संबोधित करना था। हालांकि जैसे ही वह पोडियम पर भाषण पढ़ने आईं, वह उसे पढ़ने में अटकने लगीं। पास ही खड़े कलेक्टर ने उनकी मदद करनी चाही, जिसके बाद मंत्री ने कलेक्टर को ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया और खुद नीचे उतर गईं।बता दें महिला एवं बाल विकास मंत्री 26 जनवरी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए एसएफ ग्राउंड पहुंची थीं। वह यहां मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुई थीं, ऐसे में मुख्यमंत्री का संदेश पत्र उन्हें ही पढ़ना था, लेकिन जैसे ही उन्होंने संदेश पढ़ना शुरू किया वह असहज हो गईं और संदेश नहीं पढ़ पाईं। बता दें इमरती देवी डबरा सीट से विधायक हैं और वर्तमान में प्रदेश की महिला एवं बाल-विकास मंत्री हैं। वह कांग्रेस महासचिव सिंधिया की खास मानी जाती हैं। बता दें सिंधिया के मुख्यमंत्री बनने की मांग प्रदेश में इमरती देवी ने ही उठाई थी।