मुस्लिम समाज के लोगों ने बीजेपी को वोट नहीं दिया: मोहसिन रजा

मुस्लिम समाज के लोगों ने बीजेपी को वोट नहीं दिया: मोहसिन रजामुस्लिम समाज के लोगों ने बीजेपी को वोट नहीं दिया: मोहसिन रजा
मुस्लिम समाज के लोगों ने बीजेपी को वोट नहीं दिया: मोहसिन रजा

अमेठी: अमेठी के प्रभारी व सूबे के मंत्री मोहसिन रजा ने शनिवार को 126 जोड़ों का सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शिरकत की। इस मौके पर यूपी के मन्त्री सुरेश पासी, जिलाधिकारी अमेठी शकुंतला गौतम, अमेठी भाजपा विधायक प्रतिनिधि अनन्त विक्रम सिंह, जिलाध्यक्ष उमाशंकर पाण्डेय सहित क्षेत्र के कई गणमान्य लोगों ने अपनी उपस्थिति देकर नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया।

126 जोड़ों ने की नए जीवन शुरुआत

{ यह भी पढ़ें:- अमेठी: भविष्य से खिलवाड़, सुविधा शुल्क ना देने पर परीक्षा से बेदखल }

गौरीगंज के टिकरिया स्थित पं दीन दयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्धति बालिका इण्टर कालेज के मैदान में आज 100 की संख्या शादी का मण्डप तैयार करवाया इस मण्डप में 126 जोड़ों ने अपने जीवन की नई शुरुआत की वही 15 मुस्लिम जोड़े भी मुस्लिम रीति रिवाज से बन्धन में बंधे इस कार्यक्रम के गवाह स्थानीय गणमान्य लोग बने साथ ही जिलाधिकारी अमेठी शकुन्तला गौतम,अमेठी विधायक प्रतिनिधि, उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश पासी सहित जिलाध्यक्ष उमाशंकर पाण्डेय भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए और नव दम्पत्तियों को अपना आशीर्वाद दिया इन सभी के अलावा वह लोग भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए जिन्होंने इस कार्यक्रम के लिए अपना कुछ न कुछ योगदान दिया है।
मुस्लिम समाज के लोगो ने हमे वोट नही दिया-

इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मोहसिन रजा ने कहा कि कुछ लोग हैं जो बीच में दरार डालते हैं हम सबका साथ सबका विकास की राजनीति करते हैं प्रधानमंत्री मोदी जी 125 करोड़ लोग के प्रधानमंत्री हैं और ऐसे ही जब योगी जी ने यहां का नेतृत्व संभाला तो कहा था उत्तर प्रदेश की 22 करोड़ जनता की सरकार है किसी को यह कहने का मौका नहीं मिला कि ये उनकी है कि मेरी है।
रजा ने कहा कि लेकिन एक बात जरूर कहूंगा कि हमारे मुस्लिम समाज के भाइयों ने हमारे साथ इंसाफ नहीं किया उन्होंने हमें वोट नहीं दिया मुझे लगता है कि उन्हें इस बारे में सोचना चाहिए हमारा नारा है सबका साथ सबका विकास हो हम सच्चाई से जीने वाले लोग हैं ईमानदारी से सरकार चलाने वाले लोग हैं और हम आपको किसी योजना से अलग नहीं करते।

कन्यादान महादान-

{ यह भी पढ़ें:- अभय सिंह हत्याकांड: अनशन खत्म करने को राजी हुए पत्रकार, हटाये गए गौरीगंज एसओ }

सूबे के मंत्री सुरेश पासी ने इस दौरान कहा कि कन्यादान महादान माना गया है और कुछ लोग शादी के खर्च के कारण यह महादान नहीं कर पाते और कुछ निराश्रित लड़कियों का कन्यादान हो ही नहीं पाता।

बड़े पुण्य का काम-

अमेठी से जिलाध्यक्ष उमाशंकर पाण्डेय ने कहा कि यह बड़े ही पुन्य का काम है। सरकार भी लड़कियों के कल्याण के लिए कई योजनाएं चला रही है।

{ यह भी पढ़ें:- राहुल के स्वागत को खड़े कांग्रेस और बीजेपी कार्यकर्ताओं में तीखी झड़प, पुलिस ने किया लाठीचार्ज }

Loading...