राज्यमंत्री मोहसिन रजा को बदनाम करने की कोशिश, एफआईआर दर्ज

a

लखनऊ। उत्तर प्रदेश वक्फ और हज विभाग के राज्यमंत्री मोहसिन रजा के नाम से एक फर्जी ट्विट कर उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की गयी। इस ट्विट को फिर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल भी किया गया। अब इस मामले में खुद राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज करायी है।

Minister Mohsin Raza Registers Fir In Lucknow :

वक्फ एवं हज विभाग के मोहसिन रजा राज्यमंत्री हैं। उनका कहना है कि बीते 10 अप्रैल की देर रात उनके ट्विटर एकाउंट से मिलते जुलते नाम वाले ट्विटर हैण्डल से कुछ उलटे-सीधे ट्विट किये गये। इसके बाद उन ट्विट को उनके नाम से सोशल मीडिया पर वायरल किया गया।

मंत्री मोहसिन रजा का कहना है कि बीते 13 अप्रैल को मीडिया के लोगों से उनको ट्विट के बारे में जानकारी हुई। इसके बाद उन्होंने जब छानबीन करायी तो पता चला कि फर्जी ट्विट कर उनको बदनाम करने के लिए किया गया है। साथ ही इस तरह के ट्विट से उनकी छवि भी खराब हो रही है। मंत्री मोहसिन रजा ने फौरन इस बात की शिकायत एसएसपी से की।

इसके बाद इस मामले में हजरतगंज पुलिस ने मानहानि और 67 आईटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। अब पूरे मामले की जांच साइबर क्राइम को दी गयी है। आपको बताते चले कि कुछ माह पहले राज्यमंत्री मोहसिन रजा को फोन पर धमकी भी मिली थी। इस मामले में हजरतगंज पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज की थी, पर अब तक पुलिस मोहसिन रजा को धमकी देने वाला को पता नहीं लगा सकी है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश वक्फ और हज विभाग के राज्यमंत्री मोहसिन रजा के नाम से एक फर्जी ट्विट कर उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की गयी। इस ट्विट को फिर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल भी किया गया। अब इस मामले में खुद राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज करायी है। वक्फ एवं हज विभाग के मोहसिन रजा राज्यमंत्री हैं। उनका कहना है कि बीते 10 अप्रैल की देर रात उनके ट्विटर एकाउंट से मिलते जुलते नाम वाले ट्विटर हैण्डल से कुछ उलटे-सीधे ट्विट किये गये। इसके बाद उन ट्विट को उनके नाम से सोशल मीडिया पर वायरल किया गया। मंत्री मोहसिन रजा का कहना है कि बीते 13 अप्रैल को मीडिया के लोगों से उनको ट्विट के बारे में जानकारी हुई। इसके बाद उन्होंने जब छानबीन करायी तो पता चला कि फर्जी ट्विट कर उनको बदनाम करने के लिए किया गया है। साथ ही इस तरह के ट्विट से उनकी छवि भी खराब हो रही है। मंत्री मोहसिन रजा ने फौरन इस बात की शिकायत एसएसपी से की। इसके बाद इस मामले में हजरतगंज पुलिस ने मानहानि और 67 आईटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। अब पूरे मामले की जांच साइबर क्राइम को दी गयी है। आपको बताते चले कि कुछ माह पहले राज्यमंत्री मोहसिन रजा को फोन पर धमकी भी मिली थी। इस मामले में हजरतगंज पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज की थी, पर अब तक पुलिस मोहसिन रजा को धमकी देने वाला को पता नहीं लगा सकी है।