प्रधानमंत्री को बचाने के लिए झूठ बोलकर शहीदों का अपमान कर रहे हैं सरकार के मंत्री: राहुल गांधी

rahul gandhi
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी वर्चुअल रैली में बोले-आगे बड़ा तूफान आने वाला है

नई दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख की गलवान घाटी में 20 जवानों की शहादत की पृष्ठभूमि में शुक्रवार को आरोप लगाया कि सरकार के गहरी नींद में होने की कीमत जवानों को चुकानी पड़ी और सरकार के मंत्री इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बचाने के लिए झूठ बोलकर शहीदों का अपमान कर रहे हैं।

Minister Of The Government Is Insulting The Martyrs By Lying To Save The Prime Minister Rahul Gandhi :

उन्होंने गलवान घाटी की हिंसक झड़प में घायल हुए एक जवान के पिता के बयान से जुड़ा वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘‘ यह देखकर दुख होता है कि भारत सरकार के वरिष्ठ मंत्री प्रधानमंत्री को बचाने के लिए झूठ बोलने पर उतर आए हैं। अपने झूठ से हमारे शहीदों का अपमान मत करिए।”

इस वीडियो में भारतीय जवान के पिता यह कहते सुने जा सकते हैं कि उनके बेटे ने उन्हें फोन पर बताया कि चीन के सैनिक संख्या में ज्यादा थे और उनके पास रॉड, डंडे और पत्थर थे, जबकि हमारे जवान खाली हाथ थे। इससे पहले, राहुल गांधी ने रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाईक के एक बयान से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘यह बात पूरी तरह स्पष्ट हो चुकी है कि गलवान घाटी में चीन का हमला पूर्व नियोजित था। सरकार सो रही थी और समस्या से इनकार किया। हमारे शहीद जवानों को इसकी कीमत चुकानी पड़ी।”

कांग्रेस नेता ने नाईक के बयान से जुड़ी जिस खबर का हवाला दिया उसके मुताबिक मंत्री ने कहा है कि भारतीय सैनिकों पर हमले की योजना चीन ने पहले से बना रखी थी और भारतीय सुरक्षा बल इसका करारा जवाब देंगे। गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए।

उत्तराखंड सरकार ने सिटी बसों और टैक्सियों में किराया दोगुना कर दिया

नई दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख की गलवान घाटी में 20 जवानों की शहादत की पृष्ठभूमि में शुक्रवार को आरोप लगाया कि सरकार के गहरी नींद में होने की कीमत जवानों को चुकानी पड़ी और सरकार के मंत्री इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बचाने के लिए झूठ बोलकर शहीदों का अपमान कर रहे हैं। उन्होंने गलवान घाटी की हिंसक झड़प में घायल हुए एक जवान के पिता के बयान से जुड़ा वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘‘ यह देखकर दुख होता है कि भारत सरकार के वरिष्ठ मंत्री प्रधानमंत्री को बचाने के लिए झूठ बोलने पर उतर आए हैं। अपने झूठ से हमारे शहीदों का अपमान मत करिए।” इस वीडियो में भारतीय जवान के पिता यह कहते सुने जा सकते हैं कि उनके बेटे ने उन्हें फोन पर बताया कि चीन के सैनिक संख्या में ज्यादा थे और उनके पास रॉड, डंडे और पत्थर थे, जबकि हमारे जवान खाली हाथ थे। इससे पहले, राहुल गांधी ने रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाईक के एक बयान से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘‘यह बात पूरी तरह स्पष्ट हो चुकी है कि गलवान घाटी में चीन का हमला पूर्व नियोजित था। सरकार सो रही थी और समस्या से इनकार किया। हमारे शहीद जवानों को इसकी कीमत चुकानी पड़ी।” कांग्रेस नेता ने नाईक के बयान से जुड़ी जिस खबर का हवाला दिया उसके मुताबिक मंत्री ने कहा है कि भारतीय सैनिकों पर हमले की योजना चीन ने पहले से बना रखी थी और भारतीय सुरक्षा बल इसका करारा जवाब देंगे। गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए। उत्तराखंड सरकार ने सिटी बसों और टैक्सियों में किराया दोगुना कर दिया