बाराबंकी : पड़ोसी को फांसी पर लटका देख मासूम की ने की नकल, मौत

barabanki suicide
बाराबंकी : पड़ोसी को फांसी पर लटका देख मासूम की ने की नकल, मौत

बाराबंकी। बाराबंकी के रामनगर में एक मासूम की खेल-खेल में जान चली गई। हुंआ यूं कि किशोर के पड़ोस में एक शख्स ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वो उसे देखने पहुंचा, तो उसका लटका हुआ शव देखा। इसके बाद वो घर पहुंचा और छप्पर में गमछा बांधकर लटक गया। परिजनों की नजर उस पर पड़ी तो उन लोगों ने शोर मचाया, तब पड़ोसी वहां पहुंचे और उसे नीचे उतारकर अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक उसकी सांसे थम चुकी थी।

Minor Boy Commit Suicide In Barabanki :

बता दें कि रामनगर कस्बे के रहने वाले सहारा इंडिया के एजेंट संदीप मौर्या ने सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, उसने उपनी निजी वजहों से आत्महत्या की थी लेकिन पड़ोस में रहने वाले 13 वर्षीय बच्चे के लिए ये खेल सरीखा था।

उसका पड़ोसी बदलू का 13 वर्षीय पुत्र बलराम घटना को देखने गया था और जब देख कर लौटा तो फांसी की नकल करने लगा। घर के बाहर के छप्पर में गमछा बांध कर गले तखत के नीचे कूद गया, गमछा गले में फंस गया और उसकी जान चली गई। पुलिस ने पंचनामा भर कर देर रात शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था।

बाराबंकी। बाराबंकी के रामनगर में एक मासूम की खेल-खेल में जान चली गई। हुंआ यूं कि किशोर के पड़ोस में एक शख्स ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वो उसे देखने पहुंचा, तो उसका लटका हुआ शव देखा। इसके बाद वो घर पहुंचा और छप्पर में गमछा बांधकर लटक गया। परिजनों की नजर उस पर पड़ी तो उन लोगों ने शोर मचाया, तब पड़ोसी वहां पहुंचे और उसे नीचे उतारकर अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक उसकी सांसे थम चुकी थी।बता दें कि रामनगर कस्बे के रहने वाले सहारा इंडिया के एजेंट संदीप मौर्या ने सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, उसने उपनी निजी वजहों से आत्महत्या की थी लेकिन पड़ोस में रहने वाले 13 वर्षीय बच्चे के लिए ये खेल सरीखा था।उसका पड़ोसी बदलू का 13 वर्षीय पुत्र बलराम घटना को देखने गया था और जब देख कर लौटा तो फांसी की नकल करने लगा। घर के बाहर के छप्पर में गमछा बांध कर गले तखत के नीचे कूद गया, गमछा गले में फंस गया और उसकी जान चली गई। पुलिस ने पंचनामा भर कर देर रात शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था।