​हरदोई के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने दिया इस्तीफा, डीएम ने दी सफाई

DM Hardoi Pulkit Khare
​हरदोई के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने दिया इस्तीफा, डीएम ने दी सफाई

Minority Welfare Officer Hardoi Resigns District Magistrate Clarifies Situation

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी हरिप्रसाद अंबेडकर ने ​शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा देते हुए डीएम हरदोई पुलकित खरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वहीं डीएम पुलकित खरे ने इस मामले में अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि ​​हरिप्रसाद अंबेडकर के पास हरदोई का अतिरिक्त प्रभार है, लेकिन वह हरदोई में मौजूद नहीं रहते हैं। उन्हें पूर्व में पत्रावली पेश करने के लिए नोटिस भेजे गए, लेकिन वह अपने अधीनस्थ अधिकारियों को आधे अधूरे दस्तावेजों के साथ प्रेषित कर देते थे। जो भी आरोप उनकी ओर से लगाए गए हैं उसके लिए जिलाधिकारी कार्यालय ने शासन को रिपोर्ट भेजकर, अल्पसंख्क कल्याण विभाग को पूर्णकालिक अधिकारी नियुक्त करने का अनुरोध किया है।

resign

अगर इस्तीफा देने वाले अधिकारी हरिप्रसाद अंबेडकर के आरोपों की बात करें तो, उनका कहना है कि 324 लाभार्थियों को अल्पसंख्यक विवाह योजना के तहत विभाग की ओर से मिलने वाले अनुदान की पत्रावली को जिलाधिकारी कार्यालय से हस्ताक्षर करवाने के लिए तलब किया गया और फिर उन्हें अलग अलग कारणों से दो दिनों तक कई कई घंटों का इंतजार करवाया गया। जिस वजह से उनकी तबियत खराब हो गई।

जिसके जवाब में जिलाधिकारी का कहना है कि ​जिस समय हरिप्रसाद अंबेड़कर पहले अधूरी पत्रावली के साथ आए थे, जिसे पूरा करवाने के बाद उन्हें दोबारा बुलाया गया। एक अहम बैठक पहले से निर्धारित थी, जिस वजह से उन्हें प्रतीक्षा करनी पड़ी लेकिन वह उसके बाद अपने कार्यालय चले गए। जब उन्हें जानकारी मिली तो दोबारा बुलाया गया। पत्रावली पर हस्ताक्षर हो चुका है, लभार्थियों के खाते में अनुदान की राशि पहुंच चुकी है।

जिलाधिकारी के मुताबिक हरिप्रसाद अंबेडकर के इस्तीफे को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय ने अपनी रिपोर्ट शासन को भेज दी है।

आपको बता दें कि अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी हरिप्रसाद की तैनाती सीतापुर जिले में हैं, जबकि हरदोई में उन्हें इसी पद पर अतिरिक्त पदाभार मिला हुआ है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी हरिप्रसाद अंबेडकर ने ​शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा देते हुए डीएम हरदोई पुलकित खरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वहीं डीएम पुलकित खरे ने इस मामले में अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि ​​हरिप्रसाद अंबेडकर के पास हरदोई का अतिरिक्त प्रभार है, लेकिन वह हरदोई में मौजूद नहीं रहते हैं। उन्हें पूर्व में पत्रावली पेश करने के लिए नोटिस भेजे गए, लेकिन वह अपने अधीनस्थ अधिकारियों को आधे…