रहस्य: नीम के पेड़ में लगी भीषण आग, नहीं जली एक भी पत्ती

kaushambi-neem-ka-ped
रहस्य: नीम के पेड़ में लगी भीषण आग, नहीं जली एक भी पत्ती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले से एक बेहद चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां गंगा किनारे स्थित हनुमान घाट के पास मौजूद एक नीम के पेड़ में अचानक आग लग गयी। हैरत वाली बात यह रही कि भीषण आग लगने के बावजूद नीम के पेड़ की एक भी पत्ती नहीं जली। सूचना मिलने के बाद पहुंची दमकल की गाड़ियों का पूरा पानी खत्म हो गया लेकिन आग नहीं बुझी। इस नजारे को देखने के लिए आस-पास के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

Miracle Neem Tree In Grip Of Fire But All Leaves Are Safe :

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जहां नीम पेड़ है वहां कुछ वर्ष पहले श्मशान घाट था। कल सुबह कुछ लोगों ने यहीं अंतिम संस्कार के लिए बने स्थल से कुछ दूर हटकर बाबा की कुटी के सामने शव जलाया था। इसी घाट पर एक तरफ कुटी बनाकर कई वर्ष से रह रहे बाबा रामदास के विरोध जताए जाने पर अंत्येष्टि करने पहुंचे लोगों ने कहा था कि वह स्थल साफ कर देंगे। शव जलाने के बाद स्थल को साफ कर वह सभी लोग घर चले गए।

कल दोपहर उसमें लगी आग लोगों ने देखी तो अवाक रह गए। फिर देखा कि खोखले पेड़ की टहनियों से भी आग निकल रही हैं लेकिन कुछ भी झुलस नहीं रहा है। हरी पत्तियां जस की तस हैं। यह बात इलाके में आग की तरह फैल गयी और देखने वालों का तांता लग गया। जब इसकी सूचना दमकल विभाग को दी गयी तो दमकल कर्मियों के घंटों प्रयास के बावजूद आग जलती रही। थक हारकर फायर ब्रिगेड की टीम लौट आई। रात नौ बजे तक आग की लपटें यहां साफ दिख रही थीं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले से एक बेहद चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां गंगा किनारे स्थित हनुमान घाट के पास मौजूद एक नीम के पेड़ में अचानक आग लग गयी। हैरत वाली बात यह रही कि भीषण आग लगने के बावजूद नीम के पेड़ की एक भी पत्ती नहीं जली। सूचना मिलने के बाद पहुंची दमकल की गाड़ियों का पूरा पानी खत्म हो गया लेकिन आग नहीं बुझी। इस नजारे को देखने के लिए आस-पास के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जहां नीम पेड़ है वहां कुछ वर्ष पहले श्मशान घाट था। कल सुबह कुछ लोगों ने यहीं अंतिम संस्कार के लिए बने स्थल से कुछ दूर हटकर बाबा की कुटी के सामने शव जलाया था। इसी घाट पर एक तरफ कुटी बनाकर कई वर्ष से रह रहे बाबा रामदास के विरोध जताए जाने पर अंत्येष्टि करने पहुंचे लोगों ने कहा था कि वह स्थल साफ कर देंगे। शव जलाने के बाद स्थल को साफ कर वह सभी लोग घर चले गए।कल दोपहर उसमें लगी आग लोगों ने देखी तो अवाक रह गए। फिर देखा कि खोखले पेड़ की टहनियों से भी आग निकल रही हैं लेकिन कुछ भी झुलस नहीं रहा है। हरी पत्तियां जस की तस हैं। यह बात इलाके में आग की तरह फैल गयी और देखने वालों का तांता लग गया। जब इसकी सूचना दमकल विभाग को दी गयी तो दमकल कर्मियों के घंटों प्रयास के बावजूद आग जलती रही। थक हारकर फायर ब्रिगेड की टीम लौट आई। रात नौ बजे तक आग की लपटें यहां साफ दिख रही थीं।