मिस्बाह उल हक बने पाकिस्तान टीम के नए कोच, वकार को मिली गेदाबजी सीखने की जम्मेदारी

b

इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक आखिरकार टीम के प्रमुख कोच बन ही गए। इसके साथ ही वे पाकिस्तान के प्रमुख चयनकर्ता भी बनाए गए हैं। उनके अलावा पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार युनुस को गेंदबाजी कोच की जिम्मेदारी दी गई है।

Misbah Ul Haq Made Pakistan Cricket Team Head Coach Waqar Younis Is New Bowling Coach :

इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने विश्व कप में पाकिस्तान के निराशाजनक रूप से बाहर होने के बाद टीम के कोच मिकी आर्थर का कार्यकाल न बढ़ाने का फैसला किया था। वकार और मिस्बाह पहले भी साथ काम कर चुके हैं जब वकार टीम के कोच और मिस्बाह टीम के कप्तान थे। अब मिस्बाह पाकिस्तान के छह फस्र्ट क्लास क्रिकेट एसोसिएशन्स के प्रमुख कोचों वाली चयन समिति का प्रमुख भी बनाया गया है।

जून-जुलाई में हुए आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में न पहुंचने के बाद से ही निवर्तमान कोच मिकी आर्थर का जाना तय हो गया था। इसके अलावा गेंदबाजी कोच अजहर महमूद, बल्लेबाजी कोच ग्रांस्ट फलावर और ट्रेनर ग्रांट लूडेन का कार्यकाल न बढ़ाने का फैसला लिया गया था। 45 साल के मिस्बाह पाकिस्तान के सबसे लंबे समय तक टेस्ट कप्तान रहे हैं। उन्होंने 75 टेस्ट और 162 वनडे मैचों में पाकिस्तान की कप्तानी की है। वे पाकिस्तान के सबसे सफल टेस्ट कप्तान भी हैं। वे 2017 में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायर हुए थे।

इसके बाद वे पाकिस्तान सुपर लीग टी20 टूर्नामेंट में पेशावर जाल्मी के लिए भी इस साल खेले थे। पहीं पिछले कुछ समय से कॉमेंट्री करते दिख रहे वकार युनुस इससे पहले दो बार पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रह चुके थे लेकिन इस बार उन्होंने गेंदबाजी कोच के पद के लिए अर्जी दी थी।

अीम के बल्लेबाजी कोच के लिए कोई चयन नहीं हो सका है। इस पद के लिए केवल मोहम्मद वसीम और फैजल इकबाल ने आवेदन किया था लेकिन पीसीबी ने दोनों को नजरअंदाज कर बल्लेबाजी कोच नहीं चुना। अब पीसीबी ने फैसला किया है कि पाकिस्तान की नेशनल क्रिकेट एकेडमी के सपोर्ट स्टाफ से सहायक कोच को चुना जाएगा। इस समय पाकिस्तान टीम आीईसीसी टेस्ट रैंकिंग में सातवें स्थान पर है वहीं वनडे में वह छठे स्थान पर है लेकिन टी20 रैंकिंग में वह टॉप पर बनी हुई है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक आखिरकार टीम के प्रमुख कोच बन ही गए। इसके साथ ही वे पाकिस्तान के प्रमुख चयनकर्ता भी बनाए गए हैं। उनके अलावा पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार युनुस को गेंदबाजी कोच की जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने विश्व कप में पाकिस्तान के निराशाजनक रूप से बाहर होने के बाद टीम के कोच मिकी आर्थर का कार्यकाल न बढ़ाने का फैसला किया था। वकार और मिस्बाह पहले भी साथ काम कर चुके हैं जब वकार टीम के कोच और मिस्बाह टीम के कप्तान थे। अब मिस्बाह पाकिस्तान के छह फस्र्ट क्लास क्रिकेट एसोसिएशन्स के प्रमुख कोचों वाली चयन समिति का प्रमुख भी बनाया गया है। जून-जुलाई में हुए आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में न पहुंचने के बाद से ही निवर्तमान कोच मिकी आर्थर का जाना तय हो गया था। इसके अलावा गेंदबाजी कोच अजहर महमूद, बल्लेबाजी कोच ग्रांस्ट फलावर और ट्रेनर ग्रांट लूडेन का कार्यकाल न बढ़ाने का फैसला लिया गया था। 45 साल के मिस्बाह पाकिस्तान के सबसे लंबे समय तक टेस्ट कप्तान रहे हैं। उन्होंने 75 टेस्ट और 162 वनडे मैचों में पाकिस्तान की कप्तानी की है। वे पाकिस्तान के सबसे सफल टेस्ट कप्तान भी हैं। वे 2017 में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायर हुए थे। इसके बाद वे पाकिस्तान सुपर लीग टी20 टूर्नामेंट में पेशावर जाल्मी के लिए भी इस साल खेले थे। पहीं पिछले कुछ समय से कॉमेंट्री करते दिख रहे वकार युनुस इससे पहले दो बार पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रह चुके थे लेकिन इस बार उन्होंने गेंदबाजी कोच के पद के लिए अर्जी दी थी। अीम के बल्लेबाजी कोच के लिए कोई चयन नहीं हो सका है। इस पद के लिए केवल मोहम्मद वसीम और फैजल इकबाल ने आवेदन किया था लेकिन पीसीबी ने दोनों को नजरअंदाज कर बल्लेबाजी कोच नहीं चुना। अब पीसीबी ने फैसला किया है कि पाकिस्तान की नेशनल क्रिकेट एकेडमी के सपोर्ट स्टाफ से सहायक कोच को चुना जाएगा। इस समय पाकिस्तान टीम आीईसीसी टेस्ट रैंकिंग में सातवें स्थान पर है वहीं वनडे में वह छठे स्थान पर है लेकिन टी20 रैंकिंग में वह टॉप पर बनी हुई है।