सनसनीखेज : बदमाशों ने पूर्व डीआईजी के भाई व डाक्टर को मारी गोली, हालत नाजुक

ambedarnager case
सनसनीखेज : बदमाशों ने पूर्व डीआईजी के भाई व डाक्टर को मारी गोली, हालत नाजुक

लखनऊ। यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद हैं, इसकी बानगी मंगलवार सुबह अंबेकरनगर जिले में तब देखने को मिली जब बैखौफ बदमाशों ने पूर्व डीआईजी के चचेरे भाई को गोली मार दी। हड़कंप मचा तो घटना की सूचना पुलिस को मिली तो वो मौके पर पहुंची और गंभीर रूप से घायल डाक्टर को अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उनकी हालत नाजुक बताई है। घटनास्थल पुलिस अधीक्षक अपर पुलिस अधीक्षक एवं सीओ ने कर मामले की छानबीन में जुटे हैं।

Miscreants Shot Former Digs Brother And Doctor Condition Critical :

पुलिस के मुताबिक राजेसुल्तानपुर के चोरमरा कमाल पुर निवासी रविन्द्र प्रताप सिंह बड़ौदा ग्रामीण बैंक की दुल्हूपुर शाखा में कैशियर पद पर तैनात हैं। उनके चचेरे भाई जयप्रकाश सिंह पूर्व डीआईजी हैं। रविन्द्र प्रताप सिंह मंगलवार को सुबह लगभग साढ़े पांच बजे अपने घर के दरवाजे के सामने खड़े थे। इसी दौरान वहां दो पल्सर सवार युवक पहुंचे और उनसे बात करने लगे। तभी उनमें से एक युवक ने रविन्द्र के सिर में गोली मार दी और फरार हो गए।

गोली मारने के बाद युवक थाना क्षेत्र के ही पदुमपुर कस्बे के चौक में पहुंचे। यहां आंखो के डाक्टर वीके यादव के पिता व निजी पब्लिक क्लिनिक चलाने वाले डॉक्टर लक्ष्मीकांत यादव अपने क्लिनिक की सफाई कर लगभग छ: बजे खड़े थे। दोनों युवक वहां पहुंचे, इससे पहले कि वो कुछ समझ पाते, बाइक पर पीछे बैठे युवक ने उन्हे गोली मार दी। घटना को अंजाम देने के बाद दोनो बदमाश राजेसुल्तानपुर की ओर फरार हो गए। दोनों का इलाज मेंदाता में हो रहा है। हालत चिंताजनक बताई जा रही है।

लखनऊ। यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद हैं, इसकी बानगी मंगलवार सुबह अंबेकरनगर जिले में तब देखने को मिली जब बैखौफ बदमाशों ने पूर्व डीआईजी के चचेरे भाई को गोली मार दी। हड़कंप मचा तो घटना की सूचना पुलिस को मिली तो वो मौके पर पहुंची और गंभीर रूप से घायल डाक्टर को अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उनकी हालत नाजुक बताई है। घटनास्थल पुलिस अधीक्षक अपर पुलिस अधीक्षक एवं सीओ ने कर मामले की छानबीन में जुटे हैं। पुलिस के मुताबिक राजेसुल्तानपुर के चोरमरा कमाल पुर निवासी रविन्द्र प्रताप सिंह बड़ौदा ग्रामीण बैंक की दुल्हूपुर शाखा में कैशियर पद पर तैनात हैं। उनके चचेरे भाई जयप्रकाश सिंह पूर्व डीआईजी हैं। रविन्द्र प्रताप सिंह मंगलवार को सुबह लगभग साढ़े पांच बजे अपने घर के दरवाजे के सामने खड़े थे। इसी दौरान वहां दो पल्सर सवार युवक पहुंचे और उनसे बात करने लगे। तभी उनमें से एक युवक ने रविन्द्र के सिर में गोली मार दी और फरार हो गए। गोली मारने के बाद युवक थाना क्षेत्र के ही पदुमपुर कस्बे के चौक में पहुंचे। यहां आंखो के डाक्टर वीके यादव के पिता व निजी पब्लिक क्लिनिक चलाने वाले डॉक्टर लक्ष्मीकांत यादव अपने क्लिनिक की सफाई कर लगभग छ: बजे खड़े थे। दोनों युवक वहां पहुंचे, इससे पहले कि वो कुछ समझ पाते, बाइक पर पीछे बैठे युवक ने उन्हे गोली मार दी। घटना को अंजाम देने के बाद दोनो बदमाश राजेसुल्तानपुर की ओर फरार हो गए। दोनों का इलाज मेंदाता में हो रहा है। हालत चिंताजनक बताई जा रही है।