लापता पोस्टर वॉर जारी, अब चंदौली में लगे केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पाण्डेय के पोस्टर, 5100 का इनाम

Mahendra Nath Pandey
लापता पोस्टर वॉर जारी, अब चंदौली में लगे केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पाण्डेय के पोस्टर, 5100 का इनाम

चंदौली। उत्तर प्रदेश में आजकल बीजेपी नेताओं के लापता वाले पोस्टर लगाये जा रहे हैं। बीते दिनो राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी के पोस्टर लगाए गये थे, वहीं अब केंद्रीय मंत्री और चंदौली से सांसद महेंद्र नाथ पाण्डेय के खिलाफ पोस्टरबाजी का मामला प्रकाश में आया है. यहां के डीडीयू नगर (मुगलसराय) में कई पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें लापता सांसद का पता बताने वाले को 5100 रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है. स्थानीय एलबीएस डिग्री कालेज के पूर्व अध्यक्ष अंकित यादव के नाम से ये पोस्टर लगाए गए हैं. खास बात यह है कि पुलिस पिकेट और सपा कार्यालय समेत शहर में कई जगहों पर भी इस तरह के पोस्टर लगाए गए हैं, लेकिन पुलिस को इसके बारे में जानकारी तक नहीं है.

Missing Poster War Continues Now Poster Of Union Minister Mahendra Nath Pandey In Chandauli Reward Of 5100 :

जानकारी के मुताबिक, पोस्टर पर लिखा गया है कि कोरोना काल में सांसद जी गायब हैं. एक बार भी जनता के बीच नहीं पहुंचे हैं. साथ ही कहा गया है कि केन्दीय मंत्री और सांसद महेंद्र नाथ पाण्डेय का पता बताने वाले को इनाम दिया जाएगा. दरअसल, यह पूरा मामला डीडीयू नगर का है. यहां जीरोड पर स्थित पुलिस पिकेट और सपा कार्यालय समेत तमाम जगहों पर पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें साफ- साफ कहा गया है कोरोना विभीषिका के दौर में सांसद जी लापता हैं. इनका पता बताने वाले को 5100 रुपए का इनाम दिया जाएगा.

अब राजनैतिक पोस्टरबाजी को लेकर लोगों में तरह-लतरह की चर्चा शुरू हो गई है. वहीं, पोस्टर लगाने वाले व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर सांसद महेंद्र नाथ पांडेय से कई सवाल पूछे हैं. वहीं, भाजपा के लोगों ने इस पोस्टरबाजी को गिरी हुई राजनीति बताते हुए अपनी सफाई पेश की है. उनका कहना है कि महेन्द्रनाथ पांडेय लगातार स्थानीय जनता, नेता और अधिकारियों के सम्पर्क में है. कोरोना के दौर में महेन्द्रनाथ पांडेय और उनके कार्यकर्ता जनता के बीच में लड़ाई लड़ रहे हैं. इस तरह की ओछी राजनीति कर विपक्ष अपना नम्बर बढ़ाना चाह रहा है. साथ ही केंद्रीय मंत्री की छवि को धूमिल करने का कुचक्र रच रहा है.

चंदौली। उत्तर प्रदेश में आजकल बीजेपी नेताओं के लापता वाले पोस्टर लगाये जा रहे हैं। बीते दिनो राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी के पोस्टर लगाए गये थे, वहीं अब केंद्रीय मंत्री और चंदौली से सांसद महेंद्र नाथ पाण्डेय के खिलाफ पोस्टरबाजी का मामला प्रकाश में आया है. यहां के डीडीयू नगर (मुगलसराय) में कई पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें लापता सांसद का पता बताने वाले को 5100 रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है. स्थानीय एलबीएस डिग्री कालेज के पूर्व अध्यक्ष अंकित यादव के नाम से ये पोस्टर लगाए गए हैं. खास बात यह है कि पुलिस पिकेट और सपा कार्यालय समेत शहर में कई जगहों पर भी इस तरह के पोस्टर लगाए गए हैं, लेकिन पुलिस को इसके बारे में जानकारी तक नहीं है. जानकारी के मुताबिक, पोस्टर पर लिखा गया है कि कोरोना काल में सांसद जी गायब हैं. एक बार भी जनता के बीच नहीं पहुंचे हैं. साथ ही कहा गया है कि केन्दीय मंत्री और सांसद महेंद्र नाथ पाण्डेय का पता बताने वाले को इनाम दिया जाएगा. दरअसल, यह पूरा मामला डीडीयू नगर का है. यहां जीरोड पर स्थित पुलिस पिकेट और सपा कार्यालय समेत तमाम जगहों पर पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें साफ- साफ कहा गया है कोरोना विभीषिका के दौर में सांसद जी लापता हैं. इनका पता बताने वाले को 5100 रुपए का इनाम दिया जाएगा. अब राजनैतिक पोस्टरबाजी को लेकर लोगों में तरह-लतरह की चर्चा शुरू हो गई है. वहीं, पोस्टर लगाने वाले व्यक्ति ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर सांसद महेंद्र नाथ पांडेय से कई सवाल पूछे हैं. वहीं, भाजपा के लोगों ने इस पोस्टरबाजी को गिरी हुई राजनीति बताते हुए अपनी सफाई पेश की है. उनका कहना है कि महेन्द्रनाथ पांडेय लगातार स्थानीय जनता, नेता और अधिकारियों के सम्पर्क में है. कोरोना के दौर में महेन्द्रनाथ पांडेय और उनके कार्यकर्ता जनता के बीच में लड़ाई लड़ रहे हैं. इस तरह की ओछी राजनीति कर विपक्ष अपना नम्बर बढ़ाना चाह रहा है. साथ ही केंद्रीय मंत्री की छवि को धूमिल करने का कुचक्र रच रहा है.