विधायक को मिला थप्पड़ के बदले थप्पड़, लेडी कांस्टेबल से उलझना पड़ गया भारी

himachal

Mla Slaps Instead Of Slap Lady Constable Got Entangled With Heavy

शिमला। रस्सी जल गयी लेकिन बल नहीं गया, यह कहावत हिमाचल से कांग्रेसी विधायक आशा कुमारी पर बिलकुल सटीक बैठती है। दरअसल अभी तक हिमाचल में कांग्रेस की सरकार थी लेकिन इस चुनाव में सत्ता गंवानी पड़ी। अब वहां बीजेपी की सरकार है लेकिन सरकार चलें जाने का गम नेता नहीं पचा पा रहें है जिसका नजीता देखने को मिला जब कांग्रेसी विधायक आशा कुमारी ने सरेआम लेडी कांस्टेबल को थप्पड़ जड़ दिया लेकिन जबाब में उस लेडी कांस्टेबल ने दी थप्पड़ रसीद दी।

दरअसल हिमाचल में विधानसभा चुनाव में हार की समीक्षा करने के लिए शुक्रवार को शिमला पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यक्रम में डलहौजी की विधायक आशा कुमारी भी पहुंची। इस दौरान आशा की वहां तैनात महिला कांस्टेबल में झड़प हो गई। राहुल गांधी यहां पहुंचे तो वे सीधे कांग्रेस कार्यालय के अंदर चले गए, लेकिन बाहर उनसे मिलने के लिए भारी संख्या में भीड़ इकट्ठा थी। पुलिस अपना काम कर रही थी, लेकिन कार्यकर्ता राहुल के मिलने को उतावले थे। इसी भीड़ में डलहौजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी भी थीं।

विधायक का आरोप है कि पहचान बताने के बावजूद महिला कांस्टेबल ने उन्हें राहुल गांधी की बैठक में जाने से रोका। उन्हें और अन्य महिला कार्यकर्ताओं को धक्का दिया और अपशब्द कहे। उधर, राहुल गांधी ने बैठक में इस प्रकरण पर विधायक एवं पूर्व मंत्री आशा कुमारी को फटकार लगाई।

उनकी तरफ इशारा कर कहा कि ये कांग्रेस की संस्कृति नहीं है। उन्होंने इस तरह से जो भी किया, वह गलत है। आशा कुमारी ने बैठक में राहुल के सामने माफी मांगने के अलावा मीडिया में भी अपने व्यवहार पर खेद जताया। उधर, महिला कांस्टेबल ने विधायक के खिलाफ सदर थाना में एफआईआर दर्ज करवा दी है।

शिमला। रस्सी जल गयी लेकिन बल नहीं गया, यह कहावत हिमाचल से कांग्रेसी विधायक आशा कुमारी पर बिलकुल सटीक बैठती है। दरअसल अभी तक हिमाचल में कांग्रेस की सरकार थी लेकिन इस चुनाव में सत्ता गंवानी पड़ी। अब वहां बीजेपी की सरकार है लेकिन सरकार चलें जाने का गम नेता नहीं पचा पा रहें है जिसका नजीता देखने को मिला जब कांग्रेसी विधायक आशा कुमारी ने सरेआम लेडी कांस्टेबल को थप्पड़ जड़ दिया लेकिन जबाब में उस लेडी कांस्टेबल ने…