1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोलकाता में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर को मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी, इसके बारे में जानें

कोलकाता में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर को मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी, इसके बारे में जानें

Modi Cabinet Approves East West Metro Corridor In Kolkata Know About It

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कैबिनेट में हुए फैसले की जानकारी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कलकता में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर को मंजूरी दे दी गई है। 8,575 करोड़ रुपये की लागत से 16.6 किलोमीटर ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर प्रोजेक्ट को पूरा किया जाएगा। इससे मास ट्रांजिट सिस्टम को बढ़ावा मिलेगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे मेट्रो कॉरिडोर से 24 परगना और हावडा जिले में रहने वाले लोगों को फायदा पहुंचेगा और करीब आठ लाख लोग रोजाना इससे सफर करेंगे।

पढ़ें :- कोरोना के कारण कर्ज के जाल में फंसी सेक्स वर्कर्स, जानिए लॉकडाउन के बाद क्या हाल है उनका?

उन्होंने बताया कि यह प्रोजेक्ट दिसंबर 2021 तक तैयार होगा। इतना ही नहीं हावडा में मेट्रो का सबसे डीपेस्ट मेट्रो स्टेशन होगा। इतना नहीं इस मेट्रो ट्रेन सेट को भारतीय कंपनी पीएमएल तैयार करेगी जो आत्मनिर्भर भारत का हिस्सा है। केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर प्रोजेक्ट के कुल रूट की लंबाई 16.6 किमी है जिसमें 12 स्टेशन होंगे। इस परियोजना से यातायात में आसानी होगी, शहरी संपर्क बढ़ेगा और लाखों यात्रियों आसानी से एक जगह से दूसरी जगह जा सकेंगे।

जीवाश्म ईंधन पर कम हो रही निर्भरता
केंद्रीय कैबिनेट के फैसलों पर जानकारी देने के लिए पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद रहे। प्रधान ने बताया कि जीवाश्म ईंधन के आयात पर हमारी निर्भरता कम हो रही है। प्राकृतिक गैस मूल्य निर्धारण तंत्र को पारदर्शी बनाने के लिए मंत्रिमंडल ने आज एक मानकीकृत ई-बोली प्रक्रिया को मंजूरी दी। ई-बिडिंग के लिए दिशानिर्देश बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा, सरकार भारतीय उपभोक्ताओं को सस्ती कीमत पर ऊर्जा उपलब्ध कराना चाहती है। इसके लिए हम विभिन्न स्रोतों जैसे सौर, जैव-ईंधन, जैव-गैस, सिंथेटिक गैस और कई अन्य माध्यमों से ऊर्जा प्रदान करना चाहते हैं।

नैचुरल गैस को लेकर कैबिनेट का फैसला
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार कोकी मंत्रिमंडल बैठक में नैचुरल गैस मार्केटिंग का सुधार किया गया, जो देश में गैस इकोनॉमी को बढ़ावा देगा। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि नैचुरल गैस मूल्य निर्धारण तंत्र को पारदर्शी बनाने के लिए मंत्रिमंडल ने आज एक स्टैंडर्डाइज़्ड ई-बोली प्रक्रिया को मंजूरी दी। ई-बोली के लिए जल्द ही दिशानिर्देश बनाए जाएंगे। वहीं केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि आने वाले ठंडी के दिनों में लोगों को सावधानी बरतनी होगी। कोरोना की कोई दवा नहीं है, वैक्सीन नहीं है। ऐसे में एक ही सुरक्षा कवच है-मास्क, सुरक्षित दूरी और बराबर हाथ धोना। यही त्री सूत्री बचाव है। कल से इसके लिए एक जनांदोलन शुरू होगा। इसमें प्लेन से लेकर ट्रेन, बाजारों से लेकर पुलिस स्टेशन तक हर जगह पोस्टर लगाए जाएंगे और लोगों को जागरुक किया जाएगा।

पढ़ें :- पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा के दौरान अब सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे, राज्य सरकार ने लिया निर्णय

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...