देश की जनता मोदी सरकार को सिखाएगी 2019 में सबक: राहुल गांधी

नई दिल्ली। अमेरिका की प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार देर रात छात्रों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत में असहिष्णुता और बेरोजगारी दो ऐसे मुद्दे हैं जो देश की राष्ट्रीय सुरक्षा और विकास के लिए चुनौती पेश कर रहे हैं। आज भी देश में 30 हजार नौजवानों में से सिर्फ 450 को रोजगार मिला है।

राहुल पूरी बातचीत के दौरान मोदी सरकार को टारगेट करते दिखे। उन्होने कहा कि जिन लोगों ने 2014 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार को हटाया था, वही 2019 में भाजपा नेतृत्व वाले एनडीए के प्रति अपना गुस्सा जाहिर करेंगे। हमारी आबादी के अधिकांश लोगों के पास नौकरियां नहीं हैं। वे अपना कोई भविष्य नहीं देखते, तकलीफ महसूस करते हैं। जो लोग हमसे नाराज थे, आज वही मोदी से नाराज हैं। मूल मुद्दा इस समस्या (बेरोजगारी) के समाधान का है। भारत में (मोदी सरकार के प्रति) गुस्सा बढ़ रहा है। मेरे लिए चुनौती यह है कि लोकतांत्रिक माहौल में इस समस्या (बेरोजगारी) का समाधान कैसे किया जाए।

{ यह भी पढ़ें:- केदारनाथ धाम पहुंचे PM मोदी, बोले- सवा सौ करोड़ जनता की सेवा ही बाबा केदार की सेवा }

भारत की वर्तमान राजनीति में में कुछ लोग हद से ज्यादा कंट्रोल करने और ताकत दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। उदाहरण देते हुए बताया कि गांव की सड़क का फैसला भी मुख्यमंत्री करते हैं, जबकि यह फैसला गांव की स्थानीय सरकार (पंचायत) को लेना चाहिए। कानून बनाने का काम नौकरशाह कर रहे हैं। मंत्री व संसद कानून को मंजूरी दे रही है। मोदी का मेक इन इंडिया प्रोग्राम का केंद्र बड़े कारोबारी हैं, जबकि छोटे कारोबारियों को भी अवसर दिया जाना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- विरासत को छोड़कर आगे बढ़ने वालों की पहचान खत्म होना तय: पीएम मोदी }