अप्रैल नहीं जनवरी में शुरू होगा वित्त वर्ष, टूट जाएगी 152 साल की परंपरा

modi
अप्रैल नहीं जनवरी में शुरू होगा वित्त वर्ष, टूट जाएगी 152 साल की परंपरा

नई दिल्ली। मोदी सरकार जल्द ही वित्त वर्ष में बड़ा बदलाव करने जा रही है। अगर ऐसा हुआ तो वित्त वर्ष की शुरुआती और अंतिम तारीख बदल जाएगी। 2020 से देश के वित्त वर्ष की शुरुआत अप्रैल के बजाए जनवरी से हो सकती है। हालांकि अगर वित्त वर्ष बदलता है तो फिर 152 साल से चल रही परंपरा इतिहास बन जाएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, केंद्र सरकार वित्त वर्ष को कैलेंडर वर्ष के हिसाब से बदलने का ऐलान कर सकती है।

Modi Government Likely Announce Change Financial Year Sources :

क्या होता है वित्त वर्ष- वित्त वर्ष वित्तीय मामलों में हिसाब के लिए आधार होता है। हर साल 1 अप्रैल से शुरू होकर अगले साल 31 मार्च तक चलने वाली इसकी 12 माह की अवधि वित्तीय वर्ष कही जाती है।

पीएम मोदी ने वित्त वर्ष में बदलाव की वकालत करते हुए कहा था कि एक तेजतर्रार व्यवस्था विकसित किए जाने की जरूरत है, जो विविधता के बीच काम कर सके। उन्होंने कहा था, समय के खराब प्रबंधन की वजह से कई अच्छी पहल और योजनाएं वांछित नतीजे देने में विफल रहती हैं। वित्त वर्ष को जनवरी-दिसंबर करने की घोषणा करने वाला मध्य प्रदेश पहला राज्य है।

1867 में शुरू हुआ था 1 अप्रैल से वित्त वर्ष

बता दें कि बजट प्रक्रिया को पूरा होने में दो महिने का समय लग सकता है। भारत में वित्त वर्ष एक अप्रैल से 31 मार्च तक होता है। ये व्यवस्था को 1867 में शुरू की गई थी और इससे भारतीय वित्त वर्ष का ब्रिटिश सरकार के वित्त वर्ष से तालमेल बैठाया गया था। इससे पहले तक भारत में वित्त वर्ष 1 मई को शुरू होकर 30 अप्रैल तक रहता था।

नई दिल्ली। मोदी सरकार जल्द ही वित्त वर्ष में बड़ा बदलाव करने जा रही है। अगर ऐसा हुआ तो वित्त वर्ष की शुरुआती और अंतिम तारीख बदल जाएगी। 2020 से देश के वित्त वर्ष की शुरुआत अप्रैल के बजाए जनवरी से हो सकती है। हालांकि अगर वित्त वर्ष बदलता है तो फिर 152 साल से चल रही परंपरा इतिहास बन जाएगी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, केंद्र सरकार वित्त वर्ष को कैलेंडर वर्ष के हिसाब से बदलने का ऐलान कर सकती है। क्या होता है वित्त वर्ष- वित्त वर्ष वित्तीय मामलों में हिसाब के लिए आधार होता है। हर साल 1 अप्रैल से शुरू होकर अगले साल 31 मार्च तक चलने वाली इसकी 12 माह की अवधि वित्तीय वर्ष कही जाती है। पीएम मोदी ने वित्त वर्ष में बदलाव की वकालत करते हुए कहा था कि एक तेजतर्रार व्यवस्था विकसित किए जाने की जरूरत है, जो विविधता के बीच काम कर सके। उन्होंने कहा था, समय के खराब प्रबंधन की वजह से कई अच्छी पहल और योजनाएं वांछित नतीजे देने में विफल रहती हैं। वित्त वर्ष को जनवरी-दिसंबर करने की घोषणा करने वाला मध्य प्रदेश पहला राज्य है। 1867 में शुरू हुआ था 1 अप्रैल से वित्त वर्ष बता दें कि बजट प्रक्रिया को पूरा होने में दो महिने का समय लग सकता है। भारत में वित्त वर्ष एक अप्रैल से 31 मार्च तक होता है। ये व्यवस्था को 1867 में शुरू की गई थी और इससे भारतीय वित्त वर्ष का ब्रिटिश सरकार के वित्त वर्ष से तालमेल बैठाया गया था। इससे पहले तक भारत में वित्त वर्ष 1 मई को शुरू होकर 30 अप्रैल तक रहता था।